कर्ज से परेशान युवक ने की आत्महत्या पूर्व मंत्री ने सरकार पर उठाए सवाल

नांदघाट थाना के ग्राम बदनारा में सोमवार की सुबह गांव में चाय बेचने वाला शैलेन्द्र साहू (35) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

By: Laxmi Narayan Dewangan

Published: 06 Jan 2020, 11:43 PM IST

बेमेतरा . नांदघाट थाना के ग्राम बदनारा में सोमवार की सुबह गांव में चाय बेचने वाला शैलेन्द्र साहू (35) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद चर्चा यह कि शैलेंद्र ने समूहों के नाम पर कर्ज बांटने वालों से कर्ज लिया था, जिसे नहीं चुका पाया और दबाव के चलते आत्महत्या कर लिया। घटना की सूचना पर ग्राम बदनारा पहुंचे पूर्व मंत्री डीडी बघेल ने परिजन से मुलाकात की और इस आत्महत्या के लिए माइक्रो फाइनेंस गिरोह को जिम्मेदार बताया।

मृतक परिवार को 50 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग
सरकार को आड़े हाथ लेते हुए बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री बस्तर की नक्सल घटना में आई कमी को उपलब्धि बता रहे हैं जबकि मैदानी इलाकों में लूट, हत्या, चोरी, बलात्कार जैसी घटनाएं बढ़ गई है। बेमेतरा जिला अशांत हो गया है। शराब का परिवहन हो रहा है। धान लेकर किसान चल नहीं पा रहे हैं। कर्ज से युवक की मौत एक सूदखोर फाइनेंस गिरोह की साजिश है। बघेल ने मृतक परिवार को 50 लाख रुपए मुआवजा देने और समूहों को कर्ज देने वालों पर अपराध दर्ज करने की मांग की है।

प्रारंभिक जांच में कर्ज को बताया गया है आत्महत्या का कारण
नांदघाट थाना प्रभारी आनंद कोमरा ने बताया कि प्रारंभिक जांच में आत्महत्या का कारण कर्ज ही बताया गया है। शैलेंद्र ने किस समूह से कितना कर्ज लिया था, यह जांच के बाद ही स्पष्ट होगा।

किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने नहीं ली सुध
बदनारा में युवक ने माइक्रो फाइनेंस के चक्कर में आत्महत्या की है। इसे प्रशासन ने गंभीरता से नहीं लिया। सोमवार को कोई भी जिम्मेदार अधिकारी मृतक के परिजन की सुध लेने बदनारा नहीं पहुंचे। ज्यादातर जिम्मेदार अधिकारी ग्राम पंचायत चुनाव व नगरीय निकाय चुनाव में व्यस्त रहे। इस संबंध में नवागढ़ एसडीएम डीआर डहरिया ने बताया कि निर्वाचन कार्य में था। बदनारा में युवक के आत्महत्या की कोई जानकारी नहीं है।

Show More
Laxmi Narayan Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned