नपाध्यक्ष बोली सभी के सहयोग से बेहतर होगी बाबा मठारदेव मेले की व्यवस्था

rakesh malviya

Publish: Dec, 07 2017 05:54:41 (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
नपाध्यक्ष बोली सभी के सहयोग से बेहतर होगी बाबा मठारदेव मेले की व्यवस्था

बाबा मठारदेव मंदिर प्रांगण में लगने वाले दस दिवसीय मेले की व्यवस्था को लेकर नगरपालिका में बुधवार दोपहर बैठक हुई

सारनी. श्रीश्री 1008 बाबा मठारदेव मंदिर प्रांगण में लगने वाले दस दिवसीय मेले की व्यवस्था को लेकर नगरपालिका द्वारा मंदिर प्रांगण के मंगल भवन में बुधवार दोपहर बैठक लेकर सुझाव लिए गए। बैठक में पत्रिका द्वारा बुधवार के अंक में प्रकाशित खबर में बताई गई बाबा मठारेदव मंदिर पहुंच मार्ग की समस्या पर विशेष चर्चा कर अमल में लाने का आश्वासन नपाध्यक्ष द्वारा दिया गया। बैठक में पत्रिका से बार-बार मेले की व्यवस्था को लेकर सुझाव मांगे गए। बैठक में मठारदेव महोत्सव। व्यापारियों से दुकान आवंटन के नाम पर शुल्क में कटौती। आधार से शिखर मंदिर के बीच विश्राम करने बैंच। सार्वजनिक नल। शिखर पर स्वच्छता की दृष्टि शौचालय। प्लास्टि की सामग्री पर रोक। आधार से शिखर मंदिर के बीच पहुंच मार्ग की सीढिय़ों की रिपेयरिंग। जोखिम भरे मार्ग पर लोहे की रैलिंग जैसी कई व्यवस्थाओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई।

मेले का उद्देश्य लाभ कमाना नहीं -
वरिष्ठ भाजपा नेता व बाबा मठारदेव के भक्त श्याम मदान ने बैठक में कहा कि मेले का उद्देश्य लाभ कमाना नहीं होना चाहिए। इसलिए मेले में दुकान लगाने वाले व्यापारियों को प्लाट आवंटन कम दर से करे। ताकि उन्हें अधिक आर्थिक नुकसान नहीं हो। उन्होंने कहा कि दिनों दिन मेले में दुकानें सिमट रही है। इसलिए कम दर पर प्लाट आवंटन करना बेहतर होगा।

फाइलों में कैद न हो सुझाव
वरिष्ठ नेता व समाजसेवी तिरूपति एरोलू ने कहा बैठक में प्राप्त सुझाव नगरपालिका की फाइलों में कैद न रहे। इन सुझावों पर तत्काल अमल करे। ताकि मेले की व्यवस्था में कोई चूक न रह जाए। उन्होंने कहा कि बाबा मठारदेव जिले का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है। यहां जितना हो सके सौंदर्यीकरण कर विकास करना चाहिए। वार्ड पार्षद बंडू माकोड़े ने बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए मेले में पॉलीथिन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया। जिस पर सभी ने अमल करने का आश्वासन दिया।

मेले में हो सांस्कृतिक कार्यक्रम
भारतीय जनता पार्टी के जिला मंत्री रंजीत सिंह ने बैठक में मठारदेव महोत्सव कराने का सुझाव रखा। उन्होंने कहा कि मेले में जिले ही नहीं। बल्कि प्रदेश के कई जिलों और महाराष्ट्र के भक्त पहुंचते हैं। जिनका मनोरंजन मठारदेव महोत्सव कर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बीते वर्ष महोत्सव अंतर्गत कवि सम्मेलन, आदिवासी लोकनृत्य, देवी जागरण, रामसत्ता, आर्केष्ट्रा जैसे आयोजन होने से मेले में रौनक रही।

प्रतिभा की कमी नहीं
प्रतिपक्ष नेता संजय अग्रवाल ने कहा कि शहर में प्रतिभा की कमी नहीं है। इसलिए क्षेत्रीय आयोजन करने से प्रतिभा निखारने का सुनहरा अवसर है। मठारदेव भंडारा समिति के अमरीश सिंह रघुवंशी ने भंडारा निर्माण में होने वाली समस्या को देखते हुए भंडारा निर्माण स्थल पर जाली लगाने के सुझाव दिए। मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने पुष्पमेला लगाने का सुझाव दिया।

बैठक में यह थे मौजूद
मेले की व्यवस्था को लेकर हुई बैठक में भंडारा समिति, मेला समिति, अभिषेक समिति के अलावा नपाध्यक्ष आशा भारती, उपाध्यक्ष भीमबहादुर थापा, प्रभारी सीएमओ केके भावसार, पूर्व प्रतिपक्ष नेता महेन्द्र भारती, दशरथ सिंह जाट, संजय अग्रवाल, बंडू माकोड़े, जगदीश आहूजा, टीआई महेन्द्र सिंह चौहान, विनय मालवीय के अलावा पार्षदगण और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned