एसडीएम कार्यालय के पास मायके और ससुराल वाले भिड़े

एसडीएम कार्यालय के पास मायके और ससुराल वाले भिड़े

pradeep sahu | Publish: Sep, 08 2018 11:31:38 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

पिता ने ससुराल पक्ष पर लगाया था बेटी को बंधक बनाने का आरोप

बैतूल. चिचोली थाना के चिरापाटला निवासी पिता के आरोप के बाद शुक्रवार दोपहर बेटी को एसडीएम कार्यालय में पेश किया गया। बेटी के बयान कराए। इस दौरान मायके और ससुराल पक्ष के लोगों में एसडीएम कार्यालय के पास ही विवाद हुआ। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामला शांत कराया। पिता ने बेटी के ससुराल पक्ष पर बंधक बनाने का आरोप लगाया था। एसडीएम द्वारा सर्च वारंट जारी कर बेटी को कार्यालय में तलब किया था। बेटी के बयान के बाद वह ससुराल पक्ष के लोगों के साथ रवाना हुई।
चिचोली थाना क्षेत्र के ग्राम चिरापाटला निवासी दिलीप आर्य ने बताया कि उसकी बेटी सोनम आर्य का विवाह खंडवा निवासी गौरव गौर से ११ मई २०१८ को हुआ था। उसके बाद से सोनम एक दिन के लिए १५ मई को आई थी। सोनम के ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा उससे बात नहीं करने नहीं दी जा रही थी और न ही घर आने दिया जा रहा था। मेरी बेटी को बंधक बनाकर रखा था और दस लाख रुपए नगद व कार की मांग की जा रही थी। दिलीप आर्य ने इसकी एसपी कार्यालय में की थी। जिसके बाद एसडीएम कार्यालय से सर्च वारंट जारी कर सोनम को शुक्रवार बयान के लिए लाया गया था। यहां पर ससुराल और मायके पक्ष में विवाद हो गया। ससुराल पक्ष के लोग सोनम को उसके पिता से मिलने और बात करने नहीं दे रहे थे। दोनों पक्ष में विवाद बढ़ता देखा पुलिस को बुलाना पड़ा। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराया। सोनम के एसडीएम कार्यालय में बनाया हुए। सोनम ने बताया कि उसे ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा कोई परेशान नहीं किया जा रहा है। वह परिवार में खुश है,जिसके बाद सोनम को ससुराल पक्ष के साथ रवाना कर दिया गया। सब इंस्पेक्टर बीएस पटेल ने बताया कि सोनम के पिता के आरोप के बाद सर्च वारंट जारी हुआ था। सोनम को लाए थे। उसके बयान करा दिए गए हैं। वही सोनम के पिता का आरोप है कि दबाव में उसने इस तरह के बयान दिए हैं,उसकी जान को खतरा है।

Ad Block is Banned