कोरोना काल में मरीजों को रक्त का संकट

लॉक डाउन में रक्तदान का रिकार्ड बना चुकी जिला अस्पताल की ब्लड बैंक अब ब्लड की कमी से जूझ रही है। जिसका मु य कारण कोरोना के बढ़ते मरीजों के चलते रक्तदान शिविर नहीं होना है। जिला अस्पताल की ब्लड बैंक में इस समय मात्र ४० यूनिट ही रक्त है। इतना रक्त जिला अस्पताल में हर दिन लगता है। रक्त की कमी को देखते हुए रक्तकोष अधिकारी द्वारा सोशल मीडिया पर अपना वीडियो वायरल कर लोगों से रक्तदान की अपील की जा रही है।

By: Devendra Karande

Published: 01 Aug 2020, 04:03 AM IST

बैतूल। लॉक डाउन में रक्तदान का रिकार्ड बना चुकी जिला अस्पताल की ब्लड बैंक अब ब्लड की कमी से जूझ रही है। जिसका मु य कारण कोरोना के बढ़ते मरीजों के चलते रक्तदान शिविर नहीं होना है। जिला अस्पताल की ब्लड बैंक में इस समय मात्र ४० यूनिट ही रक्त है। इतना रक्त जिला अस्पताल में हर दिन लगता है। रक्त की कमी को देखते हुए रक्तकोष अधिकारी द्वारा सोशल मीडिया पर अपना वीडियो वायरल कर लोगों से रक्तदान की अपील की जा रही है।
जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की सं या के कारण रक्तदान शिविर स्थगित कर दिए गए है। रक्तदान के लिए लोग भी सामने नहीं आ रहे हैं। जिसकी वजह से ब्लड बैंक में ब्लड का संकट खड़ा हो गया है। जिला अस्पताल मेेटरनिटी में अधिकांश एक ग्राम दो ग्राम वाली महिलाएं आती है और उनके साथ कोई अटेंडर नहीं होता है। महिलाओं को मजबूरी में रक्त देना पड़ता है। अस्पताल में हर दिन ३० से ४० यूनिट रक्त लगता हैै। इसके एवज में रक्तदान नहीं हो पा रहा है। जिला अस्पताल की ब्लड बैंक में इस समय लगभग ४० यूनिट रक्त है। इसमें सभी प्रकार के ब्लड के दो-तीन यूनिट बचे हैं। जिससे रक्तदान नहीं होने पर अस्पताल से कभी ब्लड समाप्त हो सकता है और लोग इसके लिए परेशान हो सकते हैं।
रक्तदाता को कर रहे फोन
जिला अस्पताल की ब्लड बैंक में ब्लड की कमी होने से अधिकारियों द्वारा रक्तदान करने वाले लोगों को फोन किया जा रहा है। रोजाना २५ लोगों को मोबाइल किया जा रहा है। जिसमें चार-पांच लोग ही रक्तदान के लिए पहुंच रहे हैं। जिससे रक्त की कमी बनी हुई है। सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से त्यौहार पर रक्तदान की अपील की जा रही है।
ब्लड बैंक ने बनाया था रिकार्ड
रक्तदान के मामले में जिला अस्पताल की ब्लड बैंक ने अपै्रल और मई माह में रक्तदान का रिकार्ड बनवाया था। दो माह में ही जिले में ही रक्तदान शिविरों का आयोजन कर ११९९ यूनिट रक्तदान करवाया था। यह रक्तदान प्रदेश भर में सबसे अधिक था। ब्लड बैंक अधिकारी ने ही सोशल मीडिया के माध्य से प्रचार-प्रसार कर रक्तदान करवाया था। यहां तक कि डोनर को घर से आने-जाने की सुविधा भी जिला अस्पताल से मुहैया करवाई थी।
इनका कहना
कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए रक्तदान शिविर नहीं होने से रक्त की कमी बनी हुई है। सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से लोगों से त्यौहार पर रक्तदान की अपील की जा रही है।
डॉ अंकिता सीते,जिला रक्तकोष अधिकारी जिला अस्पताल बैतूल।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned