प्रेमी को फोन करके बुलाया घर और फिर पति के साथ मिलकर कर दी हत्या

एक महिला ने अपने पति के साथ मिलकर प्रेमी की हत्या कर दी। हत्या के लिए पति के साथ षडय़ंत्र रचा। मोबाइल करके प्रेमी को अपने घर बुलाया और फिर गला घोंटकर हत्या मार दिया।

By: ghanshyam rathor

Published: 02 Mar 2019, 09:01 PM IST

बैतूल। एक महिला ने अपने पति के साथ मिलकर प्रेमी की हत्या कर दी। हत्या के लिए पति के साथ षडय़ंत्र रचा। मोबाइल करके प्रेमी को अपने घर बुलाया और फिर गला घोंटकर हत्या मार दिया। इसके बाद घटना छिपाने शव को ताप्ती घाट में बोरे में भरकर आग लगाकर फेंक दिया। पुलिस ने पति-पत्नी को हिरासत में लिया है। आरोपी की निशानदेही पर ताप्ती घाट से जला हुआ शव बरामद किया है। एफएसएल की टीम ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल की जांच पड़ताल की।
पुलिस के मुताबिक टिकारी गढ़ाघाट निवासी ३० वर्षीय दुर्गादास पिता सहदेव रज्जड़ की पत्नी के ग्राम धामोरी आठनेर निवासी २९ वर्षीय पप्पू सातपूते से प्रेम संबंध थे। दुर्गादास को इसकी भनक लगी तो उसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर उसकी हत्या की साजिश रची। पत्नी से ही १७ फरवरी को फोन लगवाकर पप्पू को अपने घर बुला लिया। पप्पू के घर आते ही पति-पत्नी ने मिलकर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद शव को एक बोरे में भर लिया। रात में मोटरसाइकिल पर शव को रखकर ताप्ती घाट में पहुंचे। ताप्ती में पहले ही ढलान में बोरे पर डीजल डालकर उसमें आग लगा दी और लगभग एक हजार फीट नीचे बोरे को फेंक दिया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर शनिवार ताप्ती घाट पहुंचकर पप्पू के शव को क्षत-विक्षत हालत में बरामद कर लिया है। मौके पर मिले कपड़े और कुछ सामग्री से परिजनों ने पप्पू की पहचान कर ली है। शव का पीएम भोपाल में होगा। पुलिस ने आरोपी दंपती को हिरासत में ले लिया है।
२४ को दर्ज हुई थी गुमशुदगी
घटना के संबंध में बताया कि १७ फरवरी को पप्पू अपने ही एक दोस्त बाबू के साथ था। आरोपी दुर्गादास की पत्नी ने पप्पू को फोन करके अपने घर बुलाया। दोनों साथ में गढ़ाघाट आए। पप्पू अपने दोस्त को बाहर खड़ा करके दुर्गादास के घर में चला गया, काफी देर तक बाहर नहीं आया। इस दौरान दुर्गादास ने ही पप्पू के दोस्त को देख लिया। जिससे डरकर पप्पू का दोस्त बाबू फरार हो गया। बाबू ने परिजनों के साथ पहुंचकर २४ फरवरी को थाने में इसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर दुर्गादास को पकड़ा। दुर्गादास ने पुलिस को पूूछताछ में सब बता दिया। बाबू द्वारा तत्काल पुलिस को सूचना दी होती तो पप्पू की जान बच भी सकती थी।
फुटेज में आया महंदगांव से लिया डीजल
सीसीटीवी फुटेज मेंं आरोपी पति-पत्नी महंदगांव के ही एक पेट्रोल पंप से डीजल लेते हुए दिखाई दे रहे हैंं। पुलिस पेट्रोल पंप से फुटेज भी प्राप्त किए हैं। डीजल लेने दोनों मोटरसाइकिल पर पहुंचे थे। मोटरसाइकिल पर ही बोरा भी रखा हुआ था।
एक ही गांव के हैं आरोपी और मृतक
आरोपी दुर्गादास पिता सहदेव रज्जड़ और मृतक पप्पू एक ही गांव आठनेर थाना क्षेत्र के ग्राम धामोरी के रहने वाले हैं। जिससे आरोपी की पत्नी और पप्पू के बीच प्रेम संबंध हो गए थे। वर्तमान में सहदेव शहर में टिकारी स्थित गढ़ाघाट में रह रहा है और राज मिस्त्री काम करता है।
सीरियल से लिया आइडिया
आरोपी दुर्गादास ने बताया कि पप्पू उसकी पत्नी को परेशान करता था। पप्पू पैसे वाले लोग हैं। उन्हें समझाने की हिम्मत नहीं थी। जिससे उसकी हत्या करने का निर्णय लिया है। कुछ दिन पहले ही टीवी में आने वाला सीरियल सावधान इंडिया देखा था। सीरियल देखने के बाद हत्या कर लाश को ठिकाने लगाने का आइडिया आया।
इनका कहना
आरोपी पति-पत्नी द्वारा घर में युवक की हत्या की है। हत्या के बाद साक्ष्य छिपाने शव को आग लगाकर जंगल में फेंक दिया। महिला के मृत युवक से प्रेम संबंध की बात सामने आई है। मामले की जांच की जा रही है।
आरएस मिश्रा, एएसपी बैतूल।

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned