पढ़े, कोरोना से जुड़ी खबरें, प्रशासन ने एतिहात बरतने क्या दिए निर्देश

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा थोकबंद निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके चलते रविवार को बैतूल नगर के सदर एवं कोठीबाजार में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजार नहीं लगाने के संबंधितों को निर्देश दिए हैं। अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जिला मुख्यालय पर ही रहने के लिए निर्देशित किया गया है। जेल में बंदियों से मुलाकात को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है।

By: Devendra Karande

Published: 21 Mar 2020, 05:03 AM IST

बैतूल। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा थोकबंद निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके चलते रविवार को बैतूल नगर के सदर एवं कोठीबाजार में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजार नहीं लगाने के संबंधितों को निर्देश दिए हैं। अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जिला मुख्यालय पर ही रहने के लिए निर्देशित किया गया है। जेल में बंदियों से मुलाकात को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। रेलवे स्टेशनों पर स्वास्थ्य परीक्षण किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं बालाजीपुरम में मंदिर को ३१ मार्च तब बंद रखे जाने को कहा गया है।
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी राकेश सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के दृष्टिगत जिले के सभी व्यावसायिक मॉल दोपहर 12 बजे से सायं 4 बजे तक ही खोले जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस दौरान वहां आने वाले उपभोक्ताओं के बीच न्यूनतम एक मीटर की दूरी रखी जाए। अपने आदेश में कलेक्टर ने जिले की सीमा में प्रत्येक नगरीय एवं ग्राम पंचायत क्षेत्र में क्रियाशील व्यावसायिक गतिविधियों में उपभोक्ताओं के बीच न्यूनतम एक मीटर की दूरी बनाए रखने की भी अपेक्षा की है। उन्होंने कहा है कि जिले के नगरीय ग्रामीण क्षेत्रों में जहां हाट-बाजार लगते हैं या ऐसे व्यावसायिक प्रतिष्ठान हैं जहां अधिक संख्या में नागरिक एकत्र होते हैं, वहां पर भी लोगों के एकत्रीकरण पर रोक लगाई जाए। व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर आने वाले व्यक्तियों से भी अपेक्षा की गई है कि वे परस्पर एक मीटर की दूरी बनाकर रखें।
मुख्यालय पर रहने के निर्देश
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के दृष्टिगत जिले के समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों को अवकाश के दिनों में भी मुख्यालय पर रहने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा है कि कोई भी अधिकारी-कर्मचारी बिना अनुमति अपना मुख्यालय न छोड़ें। साथ ही अपना मोबाइल फोन चालू रखें। इस दौरान जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति का जायजा भी लेंगे।
जेल में मुलाकात पर प्रतिबंध
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जेल प्रशासन ने जेलों में बंदियों को उनके परिजनों, निकट संबंधियों एवं मित्रों से दी जाने वाली मुलाकात सुविधा को ३१ मार्च तक प्रतिबंधित कर दिया है। इस दौरान किसी भी बंदी को मुलाकात की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। जेल में बीमारी से बचाव के लिए बंदियों एवं परिजनों की काउंसिल की जाएगी। उन्हें बताया जाएगा कि पीडि़त व्यक्ति के संपर्क से संक्रमण फैल सकता है। इसलिए मुलाकात की सुविधा पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है।
31 मार्च तक बंद रहेंगे बालाजी मंदिर के गेट
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के दृष्टिगत रूक्मणी बालाजी मंदिर ट्रस्ट बालाजीपुरम् बैतूल द्वारा 31 मार्च 2020 तक मंदिर के गेट बंद करने का निर्णय लिया गया है। मंदिर के गेट आम दर्शनार्थियों के दर्शन के लिए बंद कर दिए गए हैं।
रविवार को साप्ताहिक हाट बाजार नहीं लगाने के निर्देश
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी राकेश सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के दृष्टिगत रविवार को बैतूल नगर के सदर एवं कोठीबाजार में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजार नहीं लगाने के संबंधितों को निर्देश दिए हैं।
रेल्वे स्टेशनों पर होगा स्वास्थ्य परीक्षण
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के दृष्टिगत कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नागपुर तरफ से जिले में प्रवेश करने वाली सवारी ट्रेनों से प्रमुख स्टेशनों मुलताई, आमला, बैतूल एवं घोड़ाडोंगरी पर उतरने वाले यात्रियों का चिकित्सकों की टीम तैनात कर स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस दौरान यात्रियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के संबंध में आवश्यक जानकारी भी प्रदान की जाए।
एसडीईआरएफ का प्रशिक्षण हुआ
नोवल कोरोना वायरस कोविड-19 पर पब्लिक ओरिऐंटेशन एंड मास अवेयरनेस के लिए शुक्रवार को पुराना कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में प्रशिक्षण प्रदाय किया गया। यह प्रशिक्षण जिला स्तर के मास्टर ट्रेनर्स द्वारा होमगार्ड एवं एसडीईआरएफ (स्टेट डिजास्टर इमरजेंसी रेसपांस फोर्स राज्य आपदा आपातकालीन मोचन दल) को प्रदाय किया गया। प्रशिक्षण में डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेंट एसआर आजमी, प्लाटून कमांडर महेन्द्र वर्मा एवं एम एण्ड ई आफिसर मनोज चढ़ोकार भी उपस्थित रहे।
कोरोना की जांच कराए आए मरीज को वापस लौटाया
पाथाखेड़ा निवासी एक व्यक्ति को बुखार एवं सर्दी, खांसी के लक्षण होने पर वह इलाज के लिए शुक्रवार को शाम चार बजे जिला अस्पताल में कोरोना वायरस की जांच कराने के लिए पहुंचा था, लेकिन चिकित्सकों ने उसे वापस लौटा दिया। चिकित्सकों ने व्यक्ति को भोपाल जाकर इलाज कराने की बात कही। जिसके चलते युवक परिजनों के साथ वापस लौट गया। इधर इस मामले में सीएमएचओ डॉ जीसी चौरसिया का कहना था कि दिन भर में ६०० मरीज अस्पताल में आते हैं आप किस मरीज की बात कर रहे हैं मुझे जानकारी नहीं है। जिला अस्पताल में इस बारे में पता करें। वहीं इस बारे में जानकारी मिल सकेगी। अस्पताल से बगैर इलाज के मरीज को लौटाया नहीं जाता है। यदि मरीज आता तो उसकी जांच होती।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned