कोल नगरी में बढ़ा कोरोना का खतरा

कोरोना जांच के लिए नपा क्षेत्र सारनी अंतर्गत वार्ड 23, 28 व 32 के 8 लोगों के सैंपल लिए

By: poonam soni

Published: 22 May 2020, 10:36 AM IST

सारनी. विद्युत नगरी सारनी और कोल नगरी पाथाखेड़ा में अब कोरोना का खतरा बढ़ गया है। संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा खासकर मुंबई और चेन्नई से लौटे लोगों की जानकारी खंगाली जा रही है। गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग के अलग-अलग दलों द्वारा शोभापुर कॉलोनी के वार्ड नंबर 31, 32, 33, 34 और 35 का डोर-टू-डोर भ्रमण कर जानकारी जुटाई गई। चार लोग जो मुंबई से लौटे थे उनकी जानकारी मिली। स्वास्थ्य जांच कर सभी को होम क्वॉरंटीन का महत्व बताकर 14 दिनों तक घर में ही रहने की समझाइश दी।


यहां बढ़ेगा कोरोना का खतरा
दरअसल, एक दिन पहले यानी की बुधवार रात शोभापुर के वार्ड नंबर 32 जहां मुंबई से आए दो लोगों के सैंपल लिए गए। वहीं वार्ड नंबर 23 और 28 में आए 10 लोगों में से छह के सैंपल लिए गए हैं। इसी तरह शिवनपाठ व कटंगी गांव में मुंबई से आए छह लोगों के सैंपल लिए गए हैं। वहीं घोड़ाडोंगरी में 15 सैंपल लेकर जांच के लिए भोपाल भेजे गए हैं। इनकी रिपोर्ट 24 घंटे के भीतर प्राप्त होगी। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इनमें से कुछ लोगों में संक्रमण का खतरा है। इसलिए औद्योगिक नगरी के लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इधर, नगरपालिका परिषद सारनी के कर्मचारी गुरुदयाल हाथिया समेत दो अन्य लोगों की भी जांच स्वास्थ्य विभाग द्वारा करके उन्हें होम क्वॉरंटीन किया है।

गले में खरास की सूचना पर पहुंची टीम
शोभापुर कॉलोनी के वार्ड नंबर 31 में गुरुवार दोपहर को एक व्यक्ति के गले में खरास होने की सूचना स्वास्थ्य विभाग को मिली। इसके बाद स्वास्थ्य दल मौके पर पहुंचा। जांच कर तीन दिनों की दवाई देकर घर में रहने की सलाह दी है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार उक्त व्यक्ति मुलताई में एक कार्यक्रम में शामिल हुए था। पानी बदलने की वजह से गले में खरास हो सकती है। इसलिए दवाई दी गई है। कोरोना जैसे कोई लक्षण नहीं है। जब से मुंबई से लौटे लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण मिला है, तब से स्वास्थ्य विभाग द्वारा चेन्नई, मुंबई और हैदराबाद से आने वाले लोगों पर नजर रखकर फॉलोअप लिया जा रहा है।

जिले और प्रदेश के बाहर से 46 लौटे
लॉकडाउन में ढील मिलते ही जिले व प्रदेश के बाहर फंसे लोग अपने गांव व शहर लौट रहे हैं। गुरुवार को नगरीय क्षेत्र सारनी में 46 लोग जिले और प्रदेश के बाहर से आए हैं। इनकी जांच डॉ. स्विीटी सेन, डॉ. अंकिता शर्मा, डॉ. पुरूषोत्तम सरियाम, मधुकर सूर्यवंशी, मो. असलम खान, सदाशिव पवांर द्वारा करके सभी को 14 दिनों के लिए होम क्वॉरंटीन किया है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार को भोपाल से 9, पालघर मुंबई व नागपुर से 6, छिन्दवाड़ा से 6, सतना से 4, हैदराबाद से 4, खंडवा से 2, इंदौर से 3 समेत अन्य जिले से कुल 46 लोग आए हैं। फिलहाल सभी स्वस्थ्य है। बावजूद इसके एहतियात बरतने के निर्देश सभी को दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी से आग्रह किया जा रहा है कि जो जिले और प्रदेश के बाहर से आ रहे ैहैं वह अपनी जानकारी पुलिस व स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक रूप से अवगत कराए।

पाथाखेड़ा और शोभापुर से आठ, शिवनपाठ से 6 और घोड़ाडोंगरी से 15 सैंपल लिए हैं। गुरुवार को सभी सैंपलों को जांच के लिए भोपाल भेजा है। 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट प्राप्त होगी। मुंबई से आए संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में होने से इनमें से कुछ लोगों में संक्रमण का खतरा है। गुरुवार को 50 सैंपल लेने का लक्ष्य है।
डॉ. संजीव शर्मा, बीएमओ, घोड़ाडोंगरी

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned