कोरोना वायरस : चीन से लौटे युवक की हो रही मॉनिटरिंग

जिले में लौटे 5 लोगों में एक सारनी का व्यक्ति भी शामिल

By: yashwant janoriya

Published: 10 Feb 2020, 11:54 PM IST

सारनी. चीन में लोगों की जान का दुश्मन बना कोरोना वायरस की दहशत से जिले में लौटे 5 लोगों में एक सारनी का व्यक्ति भी शामिल है। यह 27 जनवरी को चीन रवाना हुआ था। भारत लौटने पर इसकी सूचना दिल्ली और फिर भोपाल फिर बैतूल के स्वास्थ्य विभाग को मिली। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा गया। चिकित्सक के मुताबिक कोरोना वायरस का पीरियड 7 दिनों का है। फिर भी एहतियात के तौर पर 14 दिनों तक घर पर ही अलग कमरे में रखकर प्रतिदिन पांच प्रकार की जांच कर रिपोर्ट भोपाल, दिल्ली भेजी जा रही है। जानकारी के अनुसार चीन से सारनी लौटा व्यक्ति स्वास्थ्य है, लेकिन एहतियात बरतने की जरूरत है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा उक्त व्यक्ति की पहचान छुपाकर रखी है।

आरटीओ में ऑपरेटरों ने बंद किया काम, कम वेतन मिलने का जताया विरोध
मुलताई. संसुद्रा आरटीओ इंटिग्रेट चौकी पर सोमवार आपरेटरों ने काम बंद करके नियमानुसार वेतन नहीं मिलने का विरोध जताया गया। इस दौरान आपरेटरों ने सड़क पर नारेबाजी कर नियमानुसार वेतन देने की मांग की। आपरेटर सागर बेले, अंकुश मालवीय, राहुल सावरकर, पिंकेश अड़लक, सुकेश तथा आकाश बागड़े ने बताया कि श्रम विभाग के नियमानुसार उन्हें अल्फामेक्स कंपनी द्वारा वेतन नहीं दिया जा रहा है। उन्हें कम वेतन मिल रहा है। आपरेटरों ने बताया कि विगत एक वर्ष से कंपनी द्वारा उन्हें मात्र आश्वासन ही मिल रहा है। इंटिग्रेट चेक पोस्ट पर डाटा आपरेटर, सिविल सुपर वाईजर, आईटी सुपरवाईटर, इलेक्ट्रीशियन सुपरवाईजर, हाऊस किपिंग आदि पदों पर नगर के युवक पदस्थ हैं जो लंबे समय से कार्यरत हैं। कर्मचारियों ने बताया कि वे लंबे समय से नियमानुसार वेतन देने की मांग कर रहे हैं लेकिन आश्वासन ही मिल रहा है। इधर सोमवार को समस्त आपरेटरों ने एकजुट होकर काम बंद कर दिया।
एएसएल कंपनी जीएम कुलदीप कौशिक ने बताया कि यह कंपनी की आंतरिक प्रक्रिया है, इस संबंध में कर्मचारियों से चर्चा की जा रही है।

Corona virus
yashwant janoriya
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned