भुसावल से नागपुर ट्रेन में फंसी गाय, मौत

नई दिल्ली से चेन्नई टे्रक पर कालाआखर के पास शुक्रवार दोपहर में एक गाय के ट्रेन की चपेट में आने से बड़ा हादसा टल गया। गाय आने से स्पीड में चल रही ट्रेन को अचानक रोकना पड़ा।

By: ghanshyam rathor

Published: 29 Mar 2019, 09:24 PM IST

बैतूल। नई दिल्ली से चेन्नई टे्रक पर कालाआखर के पास शुक्रवार दोपहर में एक गाय के ट्रेन की चपेट में आने से बड़ा हादसा टल गया। गाय आने से स्पीड में चल रही ट्रेन को अचानक रोकना पड़ा। जिससे बड़ा हादसा भी हो सकता था। यात्रियों की मदद से ही गाय को निकाला गया। इस दौरान मौके पर लगभग आधा घंटे ट्रेन को रोकना पड़ा। जिससे पीछे आ रही अन्य ट्रेने भी प्रभावित हुई।
भुसावल से नागपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस के सामनेे कालाआखर स्टेशन के पास दोपहर में लगभग १२.२० बजेे एक गाय के सामने से उसकी मौत हो गई। गाय टे्रन इंजन के केटल गार्ड में फंस गई। गाय नहीं निकलने से टे्रन मौके पर ही खड़ी रही। यात्रियों की मदद से गाय को निकाला गया। जिसके बाद टे्रन आगे की ओर रवाना हुई। टे्रन में सवार यात्रियों के मुताबिक जिस समय घटना हुई। टे्रन ७० से ८० किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही थी। अचानक जोर का झटका लगा और टे्रन रुक गई। झटका लगने से यात्री एकदम से डर गए। बाद में पता चला कि टे्रन से गाय कट गई है,जिसके चलते टे्रन को अचानक रोकने से झटका लगा है। यात्रियों का कहना था कि अधिक स्पीड में टे्रन को अचानक रोकने से बड़ा हादसा भी हो सकता था। टे्रन हादसा टल गया।
मूकदर्शक बने रहे गार्ड और ड्राइवर
गाय टे्रन के इंजन में ही फंसी रही। किसी ने भी गाय को निकालने का प्रयास नहीं किया है। टे्रन के इंजन में बैतूल निवासी अश्फाक खान भी सफर कर रहे थे। टे्रन के पिछले डिब्बे में बैठे हुए थे। अश्फाक मौके पर पहुंचे। उन्होंने ड्राइवर से ही सब्बल लिया और गाय को निकालने की पहल की। उन्हें देखते हुए अन्य लोग भी गाय को निकालने आगे आए। अश्फाक ने बताया कि लगभग आधा घंटे की मशक्कत के बाद गाय को निकाला गया। उन्होंने बताया कि टे्रन के ड्राइवर और गार्ड मूकदर्शक बने रहे।

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned