फायर ब्रिगेड के इंडेंट बुक में जाली हस्ताक्षर कर 50 लीटर डीजल की चोरी

फायर ब्रिगेड के इंडेंट बुक में जाली हस्ताक्षर कर 50 लीटर डीजल की चोरी
fire brigade's

Ghanshyam Rathore | Updated: 15 Jun 2019, 05:03:02 AM (IST) Betul, Betul, Madhya Pradesh, India

नगरपालिका के क्विक रिस्पांस व्हीकल(फायर ब्रिगेड) की इंडेंट बुक में से रसीद क्रमांक ७३१ एवं ७३२ के गुम होने तथा वाहन चालक एवं प्राधिकृत अधिकारी के जाली हस्ताक्षर कर ५० लीटर डीजल की राशि निकाले जाने का मामला सामने आया है।

बैतूल। नगरपालिका के क्विक रिस्पांस व्हीकल(फायर ब्रिगेड) की इंडेंट बुक में से रसीद क्रमांक ७३१ एवं ७३२ के गुम होने तथा वाहन चालक एवं प्राधिकृत अधिकारी के जाली हस्ताक्षर कर ५० लीटर डीजल की राशि निकाले जाने का मामला सामने आया है। मामले की शिकायत वाहन चालक सुनील भलावी एवं अलकेश जयसिंगपुरे द्वारा लिखित में सीएमओ नगरपालिका से की गई है। हालांकि अभी मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।
वाहन चालकों ने लिखित शिकायत में बताया कि हम नगरपालिका बैतूल के अग्निशमन सेवा के वाहन क्रमांक एमपी ४८ जी १५९३ क्विंक रिस्पांस व्हीकल पर कार्यरत हैं। उक्त वाहन के इंडेंट बुक में से रसीद क्रमंाक ७३१ एवं ७३२ किसी कर्मचारी द्वारा वाहन में से बिना वाहन चालक को बताए चोरी कर डीजल के लिए उपयोग की गई है। रसीद क्रमांक ७३१ से ५० लीटर डीजल भुगतान के लिए शर्मा फ्यूल पाइंट के कर्मचारी योगेश तायवाड़े द्वारा प्रदान की गई थी। उक्त कर्मचारी द्वारा यह भी बताया गया कि आपकी निकाय में ही कार्यरत अजय मालवी के लड़के आकाश मालवी द्वारा इसका उपयोग किया गया है। बताया गया कि अकाश मालवी वर्तमान में किसी भी वाहन पर चालक के रूप में कार्यरत ना होकर अतिरिक्त वाहन चालक के रूप में कार्य करता है। उसके द्वारा इंडेंट पर वाहन चालक तथा प्राधिकृत अधिकारी के जाली हस्ताक्षर कर ५० लीटर डीजल की राशि प्राप्त की गई। इस मामले के सामने आने के बाद नगरपालिका में वाहन के डीजल आवंटन प्रक्रिया को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned