पानी की सप्लाई में टू-लेन सडक़ बनी मुसीबत, शहरवासियों को चार दिन से नहीं मिला पानी

पाइप लाइन में रोजाना हो रहे लीकेज चार दिन से सप्लाई बंद, कोठीबाजार क्षेत्र में पेयजल सप्लाई में आ रही दिक्कतें।

By: rakesh malviya

Published: 19 Jan 2019, 07:00 AM IST

बैतूल। शहर में पेयजल सप्लाई व्यवस्था गर्मी शुरू होने से पहले ही लडख़ड़ा गई है। इसका कारण जलसंकट नहीं बल्कि मेन पाइप लाइन में रोजाना हो रहा लीकेज है। टू-लेन सडक़ निर्माण और लाइन शिफ्टिंग कार्य के चलते कालापाठा मार्ग पर पाइप लाइन रोजाना क्षतिग्रस्त हो रही है। पिछले चार दिनों से कोठीबाजार क्षेत्र कीं पेयजल सप्लाई व्यवस्था ठप पड़ी है। नगरपालिका का अमला लाइन को सुधारने में जुटा हुआ है। इस स्थिति को देखते हुए शहरवासियोंं का कहना था कि गर्मी में भी पेयजल को लेकर ऐसी समस्या सामने नहीं आई थी जितना अभी लाइन में लीकेज की वजह से सामने आ रही है। बताया गया कि शुक्रवार को पोल लगाए जाने के दौरान विक्टर फोटो स्टूडियो के सामने पुन: पाइप लाइन में लीकेज हो गया। जिसके कारण कोठीबाजार क्षेत्र में सप्लाई नहीं हो सकी। वहीं टू-लेन सडक़ का निर्माण अभी पूरा नहीं हो सका है ऐसे में आने वाले दिनों में भी लीकेज को लेकर नगरपालिका को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

 

 

रोजाना हो रही पानी की बर्बादी
मेन पाइप लाइन में लीकेज के कारण नगरपालिका की सप्लाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई है। नगरपालिका का अमला ज्यादातर वक्त लाइन को सुधारने में लगा रहता है। गुरुवार रात को कालापाठा मार्ग पर आरामशीन के पास जहां मेन पाइप लाइन में दो लीकेज होने के कारण पाइप को बदलना पड़ा। वहीं शुक्रवार सुबह कुछ ही दूरी पर विक्टर फोटो स्टूडियो के सामने विद्युत पोल बदले जाने के दौरान पुन: मेन लाइन मे लीकेज हो गया। जब सप्लाई के लिए फिल्टर प्लांट से लाइन को शुरू किया गया तो पानी सडक़ पर बह निकला। जिसके कारण सप्लाई को बंद करना पड़ा। हालांकि देर शाम तक लाइन को सुधारने के लिए नगरपालिका का अमला मौके पर नहीं पहुंचा था। बताया गया कि लीकेज की वजह से नगरपालिका का रोजाना लाखों लीटर पानी बर्बाद हो रहा है। यदि इतना बचा लिया जाए तो गर्मी में जलसंकट का सामना नहीं करना पड़ेगा।

वार्डों में चार दिनों से नहीं हुई सप्लाई
शहर के कोठीबाजार क्षेत्र से लगे पांच-छह वार्डों में पिछले तीन-चार दिनों से पेयजल की सप्लाई नहीं हो सकी है। नगरपालिका वैसे दो दिन के अंतराल से शहर में पेयजल सप्लाई कर रही है लेकिन पाइप लाइन में रोजाना लीकेज के कारण पिछले चार दिनों से क्षेत्रवासियों को जलसंकट जूझना पड़ रहा है। तिलक वार्ड के पूर्व पार्षद शैलेश्वर गायकवाड़ ने बताया कि चार दिनों से वार्ड में चार दिनों से नल नहीं आए है। महिलाओं को पीने के लिए हैंडपंप पर जाना पड़ रहा है। यदि ठंड में पानी को लेकर यह हालात है तो गर्मी में क्या स्थिति होगी। पिछले एक-दो महीनों से रोजाना कहीं न कहीं पाइप लाइन लीकेज हो रही है। पानी बचाने की जगह बर्बाद हो रहा है।

इसलिए पाइप लाइन हो रही लीकेज
शहर में पाइप लाइन बिछाने का काम नगरपालिका द्वारा टेंडर के माध्यम से कराया गया था। जो मेन पाइप लाइन टंकियों को भरने के लिए फिल्टर प्लांट से बिछाई गई है वह जमीन से महज एक फीट नीचे है। जिसके कारण सडक़ निर्माण में खुदाई के दौरान पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो रही है। कुछ जगहों पर तो लाइन को सडक़ के ऊपर से निकाला गया है। इस स्थिति के चलते कालापाठा मार्ग पर अभी तक मेन लाइन में दस से बारह बार लीकेज की समस्या सामने आ चुकी है। वहीं दो बार पाइप बदलने पड़े हैं। कुछ जगहों पर गैस वेल्डिंग कर लीकेज को सुधार भी गया है।

इनका कहना
-हमनें नगरपालिका को पहले ही कह चुके हैं कि सडक़ निर्माण में खुदाई के दौरान नगरपालिका का मैकेनिकल अमला मौजूद रहे। ताकि पाइप लाइन को नुकसान होने से बचाया जा सके, लेकिन नपा अमला मौके पर रहता नहीं है जिसके कारण लाइन को नुकसान पहुंच रहा है।
- अखिलेश कवड़े, सब इंजीनियर पीडब्ल्यूडी विभाग बैतूल।

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से बात की है लेकिन उनका कहना है कि आज कोई लीकेज निर्माण कार्य के दौरान नहीं हुआ है। विद्युत पोल शिफ्टिंग के दौरान लाइन में लीकेज आया है। अमले को भेजकर सुधार कार्य कराया जा रहा है।
प्रियंका ङ्क्षसह, सीएमओ नगरपालिका बैतूल।

rakesh malviya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned