scriptखाट पर सिस्टम : सड़क न होने से गर्भवती महिला को खटिया पर लेटाकर 7 कि.मी दूर खड़ी एंबुलेंस तक पहुंचाया | Due to lack of road pregnant woman taken to ambulance parked 7 km away on a Health System on khat | Patrika News
बेतुल

खाट पर सिस्टम : सड़क न होने से गर्भवती महिला को खटिया पर लेटाकर 7 कि.मी दूर खड़ी एंबुलेंस तक पहुंचाया

Health System on khat : घर तक एंबुलेंस न आ पाने के चलते स्थानीय महिलाओं ने उसका घर पर ही प्रसव करवाया। इसके बाद उसे खटिया पर लेटाकर जंगल के दुर्गम रास्तों से होते हुए 7 कि.मी दूर खड़े एंबुलेंस तक पहुंचाया गया।

बेतुलJul 06, 2024 / 02:03 pm

Faiz

System on khat
Health System on khat : एक तरफ जहां मध्य प्रदेश में युद्द स्तर पर विकास करने और विकास की गंगा बहाने जैसे दावे किये जा रहे हैं तो वहीं तेजी से विकास हो रहा है। तो वहीं, कुछ बड़े शहरों को छोड़कर अधिकतर इलाके आज भी मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। प्रदेश के कई इलाके तो ऐसे हैं जहां स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का अकाल पड़ा है। ऐसी ही स्वास्थ विभाग के विकास की पोल खोलती एक तस्वीर सूबे के बैतूल जिले से सामने आई है जो विकास के दावों की पोल खोल रही है। यहां ग्रामीनों ने सड़क न होने के कारण प्रसूता को खटिया पर लेकर 7 किलोमीटर दूर खड़ी एंबुलेंस तक पहुंचाया। ग्रामीणों की कड़ी मशक्कत के बाद महिला अस्पताल पहुंच सकी, जहां उसने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।
दरअसल भीमपुर ब्लॉक के चिल्लोर गांव से ये शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां एक प्रसूता को प्रसव पीड़ा हुई थी। इसके बाद उसे अस्पताल नहीं ले जाया जा सकता था। उन्होंने एंबुलेंस को सूचित किया लेकिन सड़क नहीं होने और भारी बारिश की वजह से वाहन गांव तक नहीं पहुंच सकता था। इस वजह से एंबुलेंस गांव के बाहर ही खड़ी रही। महिलाओं ने उसका घर पर ही प्रसव करवाया जिसके बाद उसे खटिया पर लिटाया और जंगल के दुर्गम रास्तों से गुजरकर सात किलो मीटर दूर खड़े वाहन तक पहुंचाया गया। यहां से उसे भीमपुर के समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तक लाया गया। महिला ने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है लेकिन उनकी हालत बेहद गंभीर है।
यह भी पढ़ें- सावधान! बारिश के मौसम में आया अजीब इंफेक्शन, आंखों से दिखना तक हो रहा बंद

नहीं हो रही सुनवाई

System on khat
जिस इलाके से ये शर्मसार कर देने वाली तस्वीरें सामने आई है, उस जिले के सांसद दुर्गादास उइके केंद्रीय जनजातीय कार्य राज्य मंत्री हैं। जिले में पांचों विधायक भाजपा के हैं। लेकिन तब भी स्थिति बदतर है। ग्रामीण सड़क के लिए कई बार आवेदन कर चुके थे, लेकिन उनकी मांग को अनसुना कर दिया गया। अब इस तरह की घटना सामने आने के बाद क्या जिम्मेदार इस पर कोई फैसला लेंगे या फिर इस गांव के लोगों को इसी तरह जिंदगी गुजारनी होगी, यह देखने वाली बात है।

Hindi News/ Betul / खाट पर सिस्टम : सड़क न होने से गर्भवती महिला को खटिया पर लेटाकर 7 कि.मी दूर खड़ी एंबुलेंस तक पहुंचाया

ट्रेंडिंग वीडियो