बदहाल स्टेडियम की सुध लेने कवायद शुरू

निकाले जा रहा हैं खराब हो चुके शेड

By: yashwant janoriya

Published: 27 Nov 2019, 11:40 PM IST

सारनी. रामरख्याणी स्टेडियम में 25 नवंबर को हुए हादसे से मप्र पॉवर जनरेटिंग कंपनी ने सबक लेते हुए बदहाल शेड को निकालने का कार्य प्रारंभ कर दिया है। जल्द ही नई शीटों का शेड स्टेडियम की शोभा बढ़ाएगा। बुधवार को सतपुड़ा ताप विद्युत गृह सारनी के सिविल विभाग द्वारा शीट निकालने का कार्य शुरू किया है। प्रारंभिक कार्रवाई में उन शीटों को निकाला जा रहा है जो पूरी तरह जर्जर हो गई है। इसके बाद नई शीटें लगाई जाएगी। हालांकि अभी भी जिम्मेदार अधिकारी यह बताने में झिझक रहे हैं कि नई शीटें कब लगाई जाएगी। स्टेडियम में तीन ओर दर्शक दीर्घा है। जिस पर शेड डला है। वहीं एक ओर शेड नहीं है। थाने पहुंच मार्ग की ओर स्टेडियम का शेड पूरी तरह बदहाल हो गया है। सोमवार को शेड पर फुटबाल चली जाने पर निकालने चढ़े चेतन बिसंद्रे शीट समेत नीचे गिर गया। जिससे उसके सिर पर गंभीर चोटें आई। कंपनी प्रबंधन के खिलाफ खिलाडिय़ों में आक्रोश पनप रहा था। श्रमिक संगठनों ने भी स्टेडियम की बदहाली पर कंपनी प्रबंधन को पत्र लिखा। वहीं अखबारों में भी यह मामला खूब सुर्खियों में रहा। इसके बाद कंपनी प्रबंधन ने बुधवार से शेड की खराब शीटें निकालना चाूल कर दिया है।
कुछ दिन पहले था हादसा : मप्र पॉवर जनरेटिंग कंपनी द्वारा निर्मित शहर का एक मात्र रामरख्याणी स्टेडियम की स्थिति बदहाल हो गई है। सोमवार सुबह शेड पर फुटबाल निकालने चढ़ा खिलाड़ी चेतन बिसंद्रे सीट समेत नीचे गिर गया था। जिससे उसके सिर पर चार टांके लगने के अलावा शरीर पर अंदरुनि चोट भी लगी है। साथी खिलाडिय़ों ने तत्काल बाइक पर घायल को पॉवर कंपनी के अस्पताल पहुंचाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद घायल की हालत में सुधार है। बताया जाता है कि रामरख्याणी स्टेडियम में सोमवार को नेहरूयुवा केंद्र के तत्वावधान में ब्लाक स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन हुआ था। वहीं रविवार को मिनी ओलंपिक हुआ था। इससे पहले डब्ल्यूसीएल और आईएफसीए के बीच क्रिकेट स्पर्धा हुई।वहीं रोजाना खिलाड़ी अभ्यास करते हैं। बावजद इसके स्टेडियम की सुध नहीं लेने से खिलाडिय़ों में आक्रोश पनप रहा है। वरिष्ठ खिलाड़ी शिवाजी सुने ने कहा स्टेडियम में बिजली और पानी की बिलकुल भी व्यवस्था नहीं है। स्टेडियम में प्रकाश व्यवस्था होने से असामाजिक तत्व खेल मैदान में डेरा जमाने से डरेंगे। लेकिन कंपनी द्वारा यहां प्रकाश की व्यवस्था नहीं की है।
नई सीटें लगाई जाएगी
दोबारा हादसा नहीं हो। इसको ध्यान में रखते हुए स्टेडियम के शेड की खराब सीटें निकाली जा रही है। जल्द ही नई सीटें लगाई जाएगी। स्टेडियम में पानी की व्यवस्था भी की जा रही है।
- मंगल सिंह धुर्वे, सिविल अधिकारी

yashwant janoriya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned