मंडी के पास तंबू में रहने वाले परिवारों के पास राशन खत्म

परेशान हो रहे हैं 21 परिवार के सौ से अधिक सदस्य

By: yashwant janoriya

Published: 31 Mar 2020, 10:41 PM IST

बैतूल. लॉकडाउन में जरुरतमंदों के लिए भोजन और राशन की व्यवस्था में लगे अधिकारियों और कर्मचारियों की पहोच कृषि मंडी बडोरा के पास तंबू में रहने वाले परिवार तक नहीं हो पा रही है। बताया जाता है कि सूचना देने के बाद अधिकारी कोई व्यवस्था नहीं कर रहे हैं। ऐसे में परिवार के लोग परेशान हो रहे हैं। समाजसेवियों द्वारा जरुर इन परिवारों को भोजन पैकेट के माध्यम से कुछ राहत पहुंचाई है। बडोरा में तंबू लगाकर रहने वाले परिवार के अजीत, शिवनाथ, रोहित ने बताया कि पांच-छह माह पहले मांगने-खाने के हिसाब से बैतूल आए थे। लॉक डाउन लगने से मांगना-खाना बंद हो गया है। थोड़ा कुछ राशन था, वह अभी तक बना लिया। अब राशन पूरी तरह से समाप्त हो गया है। बडोरा पुलिस चौकी में एक पुलिसकर्मी को आवेदन भी दो दिन पहले दिया था। यहां से भी कोई व्यवस्था नहीं हुई। दोपहर में संजू सोलंकी और राधेश्याम विश्वकर्मा आए थे। उनके द्वारा बच्चों को भोजन के पैकेट दिए गए हैं। बाद में फिर कुछ युवक आए,उनके द्वारा आधा किलो आटा और एक-एक बिस्किट का पैकेट दिया गया है। बच्चों ने पैकेट में मिला भोजन कर लिया। आधा किलो आटा में क्या होगा। एक परिवार में छह से सात सदस्य तक है।
शहरी क्षेत्र में नगरपालिका की जिम्मेदारी : बताया जाता है कि दीनदयाल रसोई के माध्यम से शहरी क्षेत्र में रहने वाले जरुरतमंद लोगों को भोजन के पैकेट बांटे जा रहे हैं। बडोरा क्षेत्र में तंबू लगाकर रहने वाले परिवारों को भोजन के लिए नगरपालिका सीएमओ से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में हमारे द्वारा व्यवस्था नहीं की जा रही है।
जिम्मेदार बोले - सचिव से संपर्क नहीं हुआ
तंबू में रहने वाले लोगों को राशन या भोजन की व्यवस्था कराने को लेकर जनपद पंचायत बैतूल के सीईओ आरकेएस चौहान से संपर्क किया गया। दोपहर में उनके द्वारा किसी को भेजकर दिखवा लेने की बात कही। वही दोबारा फिर शाम को संपर्क किया तो सीईओ दोपहर में बताया सब कुछ भूल गए और फिर दिखवाने की बात कहने लगे। चौहान ने कहा कि ग्राम पंचायत सचिव से संपर्क नहीं हुआ है।

yashwant janoriya
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned