सोयाबीन में इल्ली लगने पर किसान ने आठ एकड़ की फसल में चलवा दिया टै्रक्टर

अति वर्षा और पीला मोजेक की वजह से जिले में किसानों की फसलें बर्बाद हो गई है। फसल में अफलन की स्थिति पैदा हो गई। किसानों का मानना है कि फसल पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है। जिससे किसान अब फसल नष्ट कर रहे हैं। सांपना क्षेत्र के किसान ने अपनी खेत की आठ एकड़ सोयाबीन की फसलों पर टै्रक्टर चलाकर नष्ट करा दी है।

By: Devendra Karande

Published: 07 Sep 2020, 04:02 AM IST

बैतूल। अति वर्षा और पीला मोजेक की वजह से जिले में किसानों की फसलें बर्बाद हो गई है। फसल में अफलन की स्थिति पैदा हो गई। किसानों का मानना है कि फसल पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है। जिससे किसान अब फसल नष्ट कर रहे हैं। सांपना क्षेत्र के किसान ने अपनी खेत की आठ एकड़ सोयाबीन की फसलों पर टै्रक्टर चलाकर नष्ट करा दी है। किसानों को अब शासन से मिलने वाले मुआवजे और बीमा राशि से उ मीद है।
सापना क्षेत्र के उन्नत किसान बंटी वर्मा ने बताया कि उन्होंने 10 हजार रुपए प्रति क्विंटल सोयाबीन का बीज खरीदकर आठ एकड़ में बोवनी की थी। फसल भी अच्छी थी। अधिक बारिश होने से फंगस लगने की वजह से फसल सूख गई पेड़ों में अफलन हो गया। जिससे फसल को नष्ट करना ही उचित समझा। वर्मा ने बताया कि पूरी फसल पर टै्रक्टर चलवा दिया है। फसल को मजदूर लगाकर कटवाने में अधिक लागत लग जाती इस वजह से टै्रक्टर चलवा दिया है। फसल बर्बाद होने से किसान को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है।
अन्य फसल की तैयारी
वर्मा ने बताया कि खेत में अगली फसल लगाकर नुकसान की भरपाई करेंगे। कृषि विभाग और राजस्व की टीम भी खराब फसल का सर्वे कर ले गई है। अब किसान आस लगाए हुए है कि खराब हुई फसल की बीमा राशि और मुआवजा दिया जाए।
यहां भी पांच एकड़ की फसल की नष्ट
बैतूल बाजार के किसान रवि लोनारे ने भी अपने पांच एकड़ खेत में सोयाबीन फसल लगाई थी। फसल के लिए केसीसी से लोन लिया था। मौसम की मार से फसल बर्बाद होने पर लोनारे ने पांच एकड़ की फसल पर टै्रक्टर चलवा दिया है।
इनका कहना
खेतों में जलभराव से फसल खराब हुई है। किसानों के खेतों में अफलन की स्थिति पैदा हो गई है। किसान फसल कटाई कर खेत बनाकर सब्जी लगा सकते हैं।
डॉ वीके वर्मा, कृषि वैज्ञानिक केवीके बैतूलबाजार।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned