किसानों ने एसडीएम से कहा कि फसल पूरी बर्बाद हो गई

किसानों ने एसडीएम से कहा कि फसल पूरी बर्बाद हो गई

rakesh malviya | Publish: Feb, 15 2018 01:37:18 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

एसडीएम ने घाट बिरोली, बरखेड़, जाम, चिखलीकला, रिधोरा, दुनावा, पिपरिया, सांवरी, डहुआ, खैरवानी, सोनेगांव तथा सिपावा गांवों के किसानों ने मुआवजे की मांग

मुलताई. मंगलवार पूरे क्षेत्र में भारी ओलावृष्टि से क्षेत्र की फसलें खराब हो गई है जिससे किसान परेशान हैं। बुधवार खराब फसलों का निरिक्षण करने के दौरान ग्राम पिपरिया में एसडीएम शाह को पिपरिया एवं डहुआ के किसानों ने मौके पर ही खराब फसलों दिखाते हुए ज्ञापन के माध्यम से मुआवजे की मांग की गई। किसान मनोज बारंगे ने बताया कि डहुआ सहित आसपास मंगलवार भारी ओलावृष्टि से खड़ी फसलें आड़ी हो गई है जिससे किसानों को आर्थिक क्षति हुई है। बलराम बारंगे, रामेश्वर चिकाने, लल्लू करदाते, महेन्द्र चिकाने, संजू करदाते तथा जगदीश कड़वे सहित अन्य किसानों ने बताया कि लगातार ओलावृष्टि से किसान परेशान हो गया है इसलिए शासन द्वारा शीघ्र खराब फसलों का सर्वे करके प्रभावित किसानों को मुआवजा देना चाहिए ताकि किसानों को राहत मिल सके।

गांव-गांव निरिक्षण करके चिन्हित की जा रही ओलावृष्टि की पट्टी
भारी ओलावृष्टि से पूरा क्षेत्र प्रभावित हो गया है जिस प्रशासन भी सक्रिय हो गया है। प्रशासन द्वारा इसके लिए तत्काल सर्वे टीम बना दी गई है। बुधवार एसडीएम राजेश शाह सहित पूरी टीम ने प्रभावित क्षेत्र के ग्राम घाट बिरोली, बरखेड़, जाम, चिखलीकला, रिधोरा, दुनावा, पिपरिया, सांवरी, डहुआ, खैरवानी, सोनेगांव तथा सिपावा गांवों का निरिक्षण किया गया तथा किसानों की समस्या सुनी। इस संबन्ध में एसडीएम राजेश शाह ने बताया कि निरिक्षण के दौरान ओलापट्टी बनाई जा रही है जिससे यह साफ हो जाएगा कि कहॉ अधिक ओलावृष्टि एवं कहां कम हुई है। ओला पट्टी को नक्शे पर अंकित करके फिर टीम द्वारा सर्वे किया जाएगा।

ओलों से सडक़ें एवं खेत हुए सफेद
मंगलवार हुई ओलावृष्टि का आलम यह था कि क्षेत्र में सडक़ें एवं खेत ओलों से पूरी तरह सफेद हो गए। बांड्याखापा में तो दूसरे दिन भी ओले की चादर बिछी रही जिससे फसलें गल गई। इसके अलावा डहुआ सहित आसपास भी नजारा इसी तरह का था। किसानों ने बताया कि फसल कटनी के समय भारी ओलावृष्टि से पूरी फसल तबाह हो गई है एैसे में किसानों के सामने ही उनकी सब कुछ लुटता नजर आ रहा है। किसानों के अनुसार फसल का शीघ्र से शीघ्र सर्वे होना आवश्यक है वहीं प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार गुरुवार से सर्वे का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा।

इनका कहना है
ओलावृष्टि से प्रभावित क्षेत्र में निरिक्षण करके ओला पट्टी बनाई जा रही है जिसे नक्शे में अंकित कर सबसे अधिका प्रभावित क्षेत्र का सर्वे कार्य प्रारंभ किया जा रहा है।
राजेश शाह एसडीएम मुलताई

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned