सरकारी निर्देशों की अवहेलना करने वाले शासकीय सेवकों पर दर्ज होगी एफआईआर

सरकारी कार्यों में रूचि नहीं रखने वाले और शासकीय निर्देशों की अवहेलना करने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध धारा १८८ के तहत एफआईआर दर्ज कराए जाने का फरमान कलेक्टर राकेश सिंह ने जारी किया है। वे बुधवार को कलेक्टोरेट कार्यालय में जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक ले रहे थे। समीक्षा के दौरान सामने आया कि एएनएम द्वारा कार्य करने से इंकार किया जा रहा है और किसी प्रकार का काम भी नहीं किया जा रहा है।

By: Devendra Karande

Published: 16 Dec 2020, 09:26 PM IST

बैतूल। सरकारी कार्यों में रूचि नहीं रखने वाले और शासकीय निर्देशों की अवहेलना करने वाले कर्मचारियों के विरूद्ध धारा १८८ के तहत एफआईआर दर्ज कराए जाने का फरमान कलेक्टर राकेश सिंह ने जारी किया है। वे बुधवार को कलेक्टोरेट कार्यालय में जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक ले रहे थे। समीक्षा के दौरान सामने आया कि एएनएम द्वारा कार्य करने से इंकार किया जा रहा है और किसी प्रकार का काम भी नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते कलेक्टर को यह निर्देश जारी करने पड़े। कलेक्टर ने चाइल्ड रजिस्टे्रशन में कमी वाले विकासखंडों में संविदा एएनएम का पांच दिवस का वेतन रोके जानेे एवं नियमित एएनएम की एक वेतनवृद्धि रोके जाने के निर्देश भी दिए गए। बैठक में मातृ मृत्यु की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि मैदानी स्तर के कार्यकर्ता गंभीरता से कार्य करें। जनवरी के प्रथम सप्ताह में उपलब्धि प्रदर्शित होनी चाहिए। जननी सुरक्षा योजना एवं प्रसूति सहायता योजना के शत् प्रतिशत् भुगतान के लिए शीघ्र एवं गंभीर प्रयास किए जाए। इस कार्य के लिए विकासखंड कार्यक्रम प्रबंधक विशेष रणनीति बनाकर एक सप्ताह में कार्य पूर्ण करें, साथ ही समन्वय स्थापित कर इस ओर विशेष प्रयास करें। यदि वास्तविक समस्या होगी तो उसका समाधान किया जाएगा अन्यथा एक सप्ताह के भीतर प्रगति परिलक्षित नहीं होने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।
मातृ-मृत्यु और शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के निर्देश
बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ द्वारा पॉवर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से जिले के स्वास्थ्य सूचकांकों की स्थिति से अवगत कराते हुए जिले के 10 विकासखंडों के कार्यो की प्रगति पर प्रकाश डाला गया। बैठक में कलेक्टर राकेश सिंह ने निर्देशित किया कि मातृ मृत्यु दर व शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए भरसक प्रयास किए जाएं। नियमित राष्ट्रीय कार्यक्रमों का क्रियान्वयन सतत् किया जाए, उन्होंने एएनसी कवरेज की समीक्षा करते हुए कहा कि फील्ड वर्कर समन्वय स्थापित कर कार्य करें, नियमित मॉनिटरिंग करें तभी प्रगति परिलक्षित होगी। सभी मैदानी कर्मचारियों का जागरूक होना अत्यंत आवश्यक है। मुलताई, प्रभातपट्टन एवं सेहरा की प्रगति बढ़ाने के लिए निर्देशित किया तथा आगामी बैठक के पूर्व उपलब्धि पूर्ण करने एवं कारण सहित जानकारी प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया।
टीकाकरण की समीक्षा कहा प्रत्येक बच्चे को लगे टीका
कलेक्टर ने टीकाकरण की समीक्षा करते हुए कहा कि संपूर्ण टीकाकरण प्रत्येक बच्चे का अधिकार है और यह राष्ट्रीय महत्व का कार्यक्रम है। इसलिए प्रत्येक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा कार्यकर्ता ग्राम की महिलाओं को लगातार प्रेरित करें कि बच्चों का सम्पूर्ण टीकाकरण कराना ही है। छूटे हुए बच्चों का शत् प्रतिशत् टीकाकरण किया जाए, अयंत्र गए बच्चों का टीकाकरण उस स्थल या क्षेत्र में हो गया है या नहीं इसके लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता संबंधित बच्चे के अभिभावकों से फोन पर बात कर संतुष्ट हो लें, ताकि टीकाकरण से कोई भी बच्चा न छूटे। एक सप्ताह में टीकाकरण का सर्वे कार्य पूर्ण किया जाना तथा प्रत्येक विकासखंड के दो ग्रामों का गहन सर्वे किया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि टीकाकरण में मुलताई, प्रभातपट्टन एवं सेहरा की उपलब्धि निम्नतम है। ऐसे कम उपलब्धि अर्जन वाले खंड चिकित्सा अधिकारियों को अंयत्र स्थानांतरित किया जाए।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned