एक महीने में दूसरी बार डीजे और एडीजे ने किया जेल का निरीक्षण

जिला जेल में दो बंदियों द्वारा फिनाइल पीने की घटना के बाद से जेल प्रशासन काफी सुर्खियों में बना हुआ है। जेल के अंदर होने की घटनाएं तो खुलकर सामने नहीं आती है लेकिन जिस तरह से एक महीने के अंतराल में ही डीजे और एडीजे द्वारा दो बार जेल का निरीक्षण किए जाने से कई सवाल भी उठ रहे हैं।

By: Devendra Karande

Published: 21 Nov 2020, 09:20 PM IST

बैतूल। जिला जेल में दो बंदियों द्वारा फिनाइल पीने की घटना के बाद से जेल प्रशासन काफी सुर्खियों में बना हुआ है। जेल के अंदर होने की घटनाएं तो खुलकर सामने नहीं आती है लेकिन जिस तरह से एक महीने के अंतराल में ही डीजे और एडीजे द्वारा दो बार जेल का निरीक्षण किए जाने से कई सवाल भी उठ रहे हैं। हालांकि जेल प्रशासन इस रूटीन निरीक्षण बता रहा है लेकिन इससे पहले कभी एक महीने अंदर दो बार इस तरह से निरीक्षण होता नजर नहीं आया। सूत्रों की माने तो शुक्रवार को खराब आटे की रोटियां खाने से करीब आधा दर्जन बंदियों की सेहत बिगड़ गई थी। कुछ को उल्टियां भी हुई थी, लेकिन जेल में ही इलाज कर दिए जाने के बाद सभी ठीक हो गए। घटना से भी जोड़कर डीजे और एडीजे का निरीक्षण होना बताया जा रहा है। हालांकि उन्होंने इसे रूटीन निरीक्षण ही बताया है। जिला जेल अधीक्षक बीके कुपाड़े ने बताया कि डीजे और एडीजे द्वारा जो जेल का निरीक्षण किया गया है वह रूटीन निरीक्षण है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने जेल में बंदियों के बेरिक में जाकर व्यवस्थाएं चेक की और महिला बंदियों के बेरिक में जाकर उनसे चर्चा की। जेल में सभी इंतजाम माकूल पाए गए, लेकिन पिछले कुछ महीनों में जेल के अंदर जिस तरह के नाटकीय घटनाक्रम हुए है उससे देखकर लगता नहीं कि यह रूटीन निरीक्षण था।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned