भोपाल में महिला मित्र निकली कोरोना पॉजिटिव तो मांडवी के युवक का लिया सेम्पल, इधर कोरोना वार्ड में भर्ती युवक ने तोड़ा दम

रेड जोन भोपाल से चोरी-छुपे भागकर आए मांडवी निवासी एक युवक को भी बुधवार रात को स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्वॉरंटीन किया गया है। युवक भोपाल में जिस महिला मित्र को छोडऩे के लिए १० मई को गया था वह महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। भोपाल में युवक का सेम्पल भी जांच के लिए गया था लेकिन अभी इसकी रिपोर्ट नहीं आई है।

By: Devendra Karande

Published: 15 May 2020, 04:03 AM IST

बैतूल। जिले में कोरोना संकट का खतरा एक बार फिर मंडराने लगा है, क्योंकि जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में १२ मई को भर्ती किए गए संदिग्ध युवक की गुरुवार दोपहर में अचानक मौत हो गई है। दो दिन पहले वार्ड में भर्ती करने के दौरान डॉक्टरों ने उसका कोरोना सेम्पल जांच के लिए लिया था। हालांकि अभी इसकी रिपोर्ट नहीं आई है। चिकित्सक मधुमेह बीमारी की जटिलताओं की वजह से युवक की मौत होना बता रहे हैं।वहीं रेड जोन भोपाल से चोरी-छुपे भागकर आए मांडवी निवासी एक युवक को भी बुधवार रात को स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्वॉरंटीन किया गया है। युवक भोपाल में जिस महिला मित्र को छोडऩे के लिए १० मई को गया था वह महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। भोपाल में युवक का सेम्पल भी जांच के लिए गया था लेकिन अभी इसकी रिपोर्ट नहीं आई है। स्वास्थ्य विभाग ने अनाधिकृत तौर भाग कर आए युवक की सूचना पुलिस को दे दी है। बीते चौबीस घंटों के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा ३१ नए कोरोना संदिग्ध मरीजों के सेम्पल लिए गए हैं। जिससे अब तक लिए गए सेम्पलों की संख्या ३१९ पर जा पहुंची है।
कोरोना सेम्पल की रिपोर्ट आने से पहले युवक की मौत
जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में १२ मई को भर्ती किए गए २८ वर्षीय रविंद्र चिंचोलकर की कोरोना जांच रिपोर्ट आने से पहले ही मृत्यु हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने युवक को कोरोना संदिग्ध मानते हुए मंगलवार को कोरोना सेम्पल लेकर भोपाल जांच के लिए भेजा था। बताया गया कि युवक पांढुर्ना से कारपेंटर का काम करके अपने गांव मंगोनाकला (मुलताई)लौटा था तभी से उसकी हालत ठीक नहीं बताई जा रही थी। परिजनों ने उसे मुलताई के अस्पताल में डॉक्टरों को दिखाया। डॉक्टरों ने उसे कोरोना संदिग्ध मानकर जिला अस्पताल रैफर कर दिया था। जिसके बाद १२ मई को युवक को जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती किया गया। इसी दिन युवक का सेम्पल लेकर कोरोना जांच के लिए भोपाल भेजा गया था। इलाज के दौरान गुरुवार दोपहर युवक ने दम तोड़ दिया। युवक की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। इधर युवक की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने मृत के परिजनों को होम आईसोलेट कर दिया है। मेडिकल की टीम भी जांच के लिए मंगोनाकला पहुंची गई थी। कोरोना वार्ड में भर्ती युवक की मौत के बाद एहतियात के तौर पर युवक का अंतिम संस्कार गंज मोक्षधाम में जिला चिकित्सालय के कर्मचारियों की उपस्थिति में बैतूल में कराया गया।
कोरोना पॉजिटिव महिला मित्र से मिलकर लौटे युवक को किया क्वॉरंटीन
भोपाल में कोरोना पॉजिटिव महिला मित्र से मिलकर युवक के गांव लौटने पर हड़कंप मच गया है। युवक को गांव के छात्रावास में क्वॉरंटीन किया गया था, लेकिन बुधवार देर रात युवक को अन्य स्थान पर शिफ्ट करने के लिए एबुंलेंस गांव में पहुंची थी। युवक के गांव पहुंचने की सूचना पुलिस को भी दी गई है। वहीं युवक के परिजनों को होम आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया है। यह मामला उस समय सामने आया जब आठनेर बीएमओ ने सीएमएचओ को एक पत्र भेजा। इस पत्र में युवक की ट्रैवल हिस्ट्री के बाद हड़कंप मच गया है। पत्र उल्लेख किया गया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आठनेर के अंतर्गत ग्राम मांडवी में १३ मई को २० वर्षीय गोलू सावे भोपाल से आने की सूचना प्राप्त हुई है। जिसे मांडवी के कस्तूरबा छात्रावास में क्वॉरंटीन किया गया था लेकिन बुधवार रात उसे आठनेर के कन्या छात्रावास में क्वॉरंटीन किया गया। बीएमओ के मुताबिक भोपाल में गोलू अपनी दोस्त श्रद्धा को उसके घर १० मई को छोडऩे के लिए हबीबगंज से बरखेड़ी भोपाल गया था। गोलू द्वारा बताया गया कि उसकी दोस्त श्रद्धा कोरोना पॉजिटिव है। गोलू मांडवी आने के लिए भोपाल से मंडीदीप तक पैदल यात्रा की। मंडीदीप से हैदराबाद जाते हुए किसी ट्रक में बैठकर बैतूल तक आया। बैतूल से ताप्ती घाट तक पैदल ही आया और ताप्ती घाट में उसके पिता दिनेश सावे उसे मोटरसाइकिल से लेकर मांडवी लेकर आए। गोलू ने दिन भर अपना समय परिवार के साथ बिताया और एएनएम को जानकारी प्राप्त होने पर शाम को उसे क्वॉरंटीन किया गया।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned