पढ़े, समस्याएं सुनने आज से प्रशासन आ रहा है आपके द्वार

अब आम जनता को सरकारी कार्यालयों में काम के लिए मुसद्दीलाल बनकर भटकना नहीं पड़ेगा। उनका काम निश्चित समय में अपने आप हो जाएगा। क्योंकि आमजन की समस्याएं सुनने आज से प्रशासन आपके द्वार आ रहा है। २ से १८ अक्टूबर तक शहर सरकार आपके द्वार अभियान की शुरूआत शहरी क्षेत्र में होने जा रही है।

By: Devendra Karande

Published: 02 Oct 2019, 05:03 AM IST

बैतूल। अब आम जनता को सरकारी कार्यालयों में काम के लिए मुसद्दीलाल बनकर भटकना नहीं पड़ेगा। उनका काम निश्चित समय में अपने आप हो जाएगा। क्योंकि आमजन की समस्याएं सुनने आज से प्रशासन आपके द्वार आ रहा है। २ से १८ अक्टूबर तक शहर सरकार आपके द्वार अभियान की शुरूआत शहरी क्षेत्र में होने जा रही है। हालांकि अभियान के तहत तीन अक्टूबर से वार्डो में शिविर लगाकर लोगों की समस्याएं सुननी जाएगी और उनका मौके पर निराकरण किया जाएगा। स्वयं विधायक शिविर में उपस्थित रहकर लोगों की समस्याएं सुनेंगे। लोगों का कहना था कि सुनने में भले यह अच्छा लग रहा हो लेकिन समस्या का समाधान होना हमारे लिए जरूरी हैं अन्यथा ऐसे कई अभियान पहले भी आए पर लोगों की समस्याएं हल नहीं हो सकी।
तीन-चार वार्डों को मिलाकर लगाया जाएगा शिविर
शहर सरकार आपके द्वार अभियान के तहत शहर के ३३ वार्डों में अलग-अलग जोन में निर्धारित किया गया है। तीन से चार वार्डों का एक जोन बनाया गया है। प्रत्येक जोन में शिविरों का आयोजन किया जाएगा। शिविर के संचालन के लिए दल प्रभारी, सहायक कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। सुभाष वार्ड, अर्जुन वार्ड एवं दुर्गा वार्ड के लिए क्रीड़ा परिसर अर्जुन वार्ड में शिविर का आयोजन होगा। इसी प्रकार शिवाजी वार्ड, किदवई वार्ड, गांधी वार्ड, मालवीय वार्ड के लिए सुभाष स्कूल मोक्षधाम के सामने, आजाद, तिलक, कृष्णा एवं आर्य वार्ड के लिए न्यू बेैतूल स्कूल ग्राउंड कोठीबाजार, महावीर, मोती, देशबंधु वार्ड के लिए हनुमान मंदिर मोती वार्ड, चंद्रशेखर, इंदिरा, पटेल वार्ड के लिए शा.आईटीआई कॉलेज, शास्त्री, भगत, राजेंद्र, लोहिया वार्ड के लिए पंजाबी मंगल भवन, जयप्रकाश, जाकिर हुसैन, रामनगर के लिए गर्ग कॉलोनी स्कूल, विनोबा, शंकर, विवेकानंद वार्ड के लिए सांई मंदिर के पास फिल्टर प्लांट रोड, विकास, गणेश वार्ड के लिए गायत्री मंदिर क्र्लक कॉलोनी, टैगोर एवं जवाहर वार्ड के लिए प्रयास गार्डन एवं अंबेडकर व प्रताप वार्ड के लिए मेघनाथ चौक पर शिविर लगाया जाएगा।
अमला कम मुश्किलें ज्यादा
यह अभियान ३ अक्टूबर से १८ अक्टूबर तक प्रतिदिन वार्डों में संचालित होगा। शिविर सुबह १०.३० बजे से शाम ५.३० बजे तक लगाए जाएंगे। यह अभियान नगरपालिका के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है, क्योंकि नगरपालिका के पास अमला काफी कम है। महज दो इंजीनियर के भरोसे पूरी नगरपालिका संचालित हो रही है। ऐसे में निर्माण कार्यों से जुड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए लंबा समय लग सकता है। बताया गया कि सहायक यंत्री महेश चंद्र अग्रवाल का स्थानांतरण भी होशंगाबाद हो गया है लेकिन वर्तमान में जो परेशानियां है उसे देखते हुए उन्हें रिलिव नहीं किया जा रहा है। उपयंत्री नगेंद्र वागद्रे एवं संजय सरेठा पर पहले से योजनाओं की जिम्मेदारी है। ऐसे में यदि वे शिविर में समस्याओं का निराकरण करते हैं तो योजनाओं पर बेहतर तरीके से काम कर पाना मुश्किल हो जाएगा।
नपा के लिए अभियान चुनौती भरा
नगरपालिका के लिए यह अभियान काफी चुनौती भरा होने वाला है, क्योंकि नगरपालिका कर्मचारियों को वार्डों में जाकर सीधे आम जनता से रूबरू होना है। अभी तक सड़क, नाली, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए वार्डवासी नगरपालिका के चक्कर काट रहे थे लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही थी। ऐसे में अब जब अधिकारी वार्डों के अंदर जाकर शिविर लगाएंगे तो निश्चित तौर पर लोगों के आक्रोश का सामना भी उन्हें करना पड़ सकता है। बताया गया कि बारिश के बाद शहर में वार्डों के अंदर सड़कों की हालत खस्ताहाल हो चुकी हैं। सड़कों पर गड्ढें होने से आवागमन में काफी दिक्कतें आ रही है। रात के वक्त स्ट्रीट लाइटें भी बंद रहती है जिससे सड़कों पर अंधेरा छाया रहता है। इसके अलावा पीने के पानी की समस्या सहित साफ-सफाई का अभाव होना जैसी अनगिनत समस्याएं रोजाना नगरपालिका में दर्ज होती है। सीएम हेल्पलाइन की शिकायतें भी बड़ी संख्या में आती है। ऐसे में नगरपालिका के लिए समस्याओं को त्वरित निराकरण कर पाना मुश्किल होगा।
यह है अभियान का उद्देश्य
राज्य सरकार ने आमजन की समस्याओं का मौके पर निराकरण करने के लिए नए अभियान की शुरूआत की है। शहर सरकार-आपके द्वार नाम से शुरू किए गए कार्यक्रम से सरकार ने जनता के घर पर पहुंचकर समस्याओं को निपटाने का अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत अधिकारी वार्डों में पहुंचकर शिविर लगाएंगे। ताकि लोगों की समस्याएं मौके पर निपटाई जा सके। सरकार का मानना है कि शिविर जो आवेदक अपनी समस्याओं को लेकर आएंगे उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जाएगा।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned