सांसद ने कहा नए भवन में शिफ्टिंग के लिए करूंगा प्रयास

नई बिल्डिंग में केंद्रीय विद्यालय की शिफ्टिंग को लेकर आज-कल, आज-कल करते-करते एक और माह बीत गया। जुलाई में बिल्डिंग को बने पांच महीने हो जाएंगे,लेकिन शिफ्टिंग का मामला अधर में लटका पड़ा है।

By: ghanshyam rathor

Published: 01 Jul 2019, 05:04 AM IST

बैतूल। नई बिल्डिंग में केंद्रीय विद्यालय की शिफ्टिंग को लेकर आज-कल, आज-कल करते-करते एक और माह बीत गया। जुलाई में बिल्डिंग को बने पांच महीने हो जाएंगे,लेकिन शिफ्टिंग का मामला अधर में लटका पड़ा है। नवनिर्वाचित सांसद डीडी उईके ने केंद्रीय विद्यालय की शिफ्टिंग को लेकर प्रयास किए जाने की बात कही है, लेकिन कब स्कूल नई बिल्डिंग में संचालित होगा यह कहना अभी मुश्किल है। जुलाई माह में भी बच्चों को पुरानी बिल्डिंग में ही स्कूल जाने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।
सांसद ने कहा केंद्रीय विद्यालय संगठन से करूंगा बात
सांसद उईके ने पत्रिका से चर्चा में कहा कि वे बच्चों को किसी भी हालत में परेशान नहीं होने देंगे। नए भवन में स्कूल की शिफ्टिंग को लेकर वे शीघ्र ही केंद्रीय विद्यालय संगठन से चर्चा करेंगे। कोशिश करेंगे कि जल्द से जल्द स्कूल को नए भवन में शिफ्ट कर दिया जाए। इधर, केंद्रीय विद्यालय द्वारा नई बिल्डिंग का निरीक्षण करने के उपरांत जांच रिपोर्ट केंद्रीय संगठन को भेज दी गई है। वहां से निर्देश आने के उपरांत ही स्कूल की शिफ्टिंग को लेकर आगे की कार्रवाई हो सकेगी।
यह आ रही परेशानी
बिल्डिंग बनकर तैयार होने के बाद हैंडओवर नहीं होने से कई तरह की समस्याएं भी सामने आ रही है। लंबे समय से बिल्डिंग खाली होने के कारण धूल की वजह से फर्श और टाइल्स गंदे हो गए हैं। हालांकि ठेकेदार दो बार पूरे स्कूल की सफाई करा चुका है लेकिन हैंडओवर में लंबा समय लगने से पुन: कमरों एवं हॉल में धूल एवं गंदगी जमा हो जाती है। केंद्रीय विद्यालय द्वारा ठेकेदार को सात दिन का समय दिए जाने के बाद छह महिलाओं को बिल्डिंग की सफाई के लिए लगाया गया है। ठेकेदार का कहना है कि बिल्डिंग हैंडओवर के लिए तैयार है। केंद्रीय विद्यालय संगठन जब चाहे बिल्डिंग अपने हैंडओवर में ले सकता है।

 

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned