नेशनल फिल्म फेस्टिवल में धूम मचाएगी १२ मिनट की बिटिया रानीÓ

नेशनल फिल्म फेस्टिवल में धूम मचाएगी १२ मिनट की बिटिया रानीÓ

Sandeep Nayak | Publish: Jan, 20 2018 01:39:06 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

रायपुर में आयोजित होगा नेशनल फिल्म फेस्टीवल

बैतूल। बैतूल के कलाकारों ने बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ को लेकर शॉर्ट फिल्म बनाई है। १२ मिनट की इस फिल्म को नेशनल फिल्म फेस्टीवल रायपुर में भेजा गया है। फिल्म का चयन कर लिया गया है। फिल्म का रायपुर में प्रदर्शन किया जाएगा। जिसके बाद अवार्ड दिया जाएगा। बैतूल से पांच फिल्में भेजी गई थी। जिसमें से एक फिल्म का चयन किया है।
फिल्म को बनाने वाले उत्तम दीक्षित ने बताया कि शार्ट फिल्म बिटिया रानी नेशनल फिल्म फेस्टीवल रायपुर में 20 व 21 जनवरी को अवार्ड केटेगिरी में करीब 450 फिल्मों में से 30 फिल्म में से एक है। यह फिल्म कन्या ***** परिक्षण एवं भु्रण हत्या निषेध अधिनियम और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश देती है। फिल्म श्रेया पिपले, माधुरी साबले, संगीता अवस्थी, दिक्षा जैसवाल, भावना चौधरी, रौनक सोनी, पंकज सोनी, डॉ.एमएस खान, बेबी आशी निहार दीक्षित, धीरज हिराणी ने काम किया है। फिल्म का संगीत बैतूल के ही अखिलेश जैन ने दिया है। फिल्म निर्माता आशा उत्तम दीक्षित ने बताया कि फिल्म निर्माण के पीछे उद्देश्य बैतूल जिले के कलाकारों को मंच देना और मनोरंजन के साथ कानून की जानकारी देते हुए सामाजिक कुरीतियों पर प्रहार करना करना है।

national film awards 2018 news and date

पहले भी बना चुके फिल्म
उत्तम दीक्षित फिल्मस अभी तक जंगल की रानी, तुम अबला नहीं निर्भया बनों फिल्म बना चुका है। 28 जनवरी को फेसबुक का प्यार का मूहर्त किया जाने वाला है। शार्ट फिल्में बनाने के बाद भविष्य में बड़े पर्दे की पिक्चर जो देश भर में प्रदर्शित हो सके उसकी तैयारियां की जा रही है।

खजुराहो फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित हो चुकी संभाग की दो फिल्मे

इसके पहले खजुराहो फिल्म फेस्टिवल में संभाग की दो फिल्में प्रदर्शित हो चुकी हैं। मप्र में लगातार हो रही किसानों की आत्महत्या को लेकर होशंगाबाद के युवाओं द्बारा बनाई गई शार्ट मूवी "कर्ज किसान का " शनिवार को खजुराहो फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित की गई। फेस्टीवल का शनिवार को समापन किया गया। लगभग 15 मिनिट की इस शार्ट मूवी को हर किसी ने सराहा और कलाकारों के अभिनय की प्रशंसा की। इस शार्ट फिल्म की कहानी कज़ऱ् में डूबे किसान परिवार की है जो सूदख़ोरों से परेशान होकर आत्महत्या कर लेता है।

शार्ट मूवी में डायरेक्टर सचिन हरि ने इस शार्ट फिल्म के माध्यम से संदेश देने का प्रयास किया है कि एक किसान की आत्महत्या के बाद उसके परिवार पर किस तरह से परेशानियों को पहाड़ टूटता है। उन्होंने इस फिल्म के जरिये किसानों को हालातों से लडऩे का संदेश भी दिया और आत्महत्या जैसे कदम को उठाने के पहले उनके परिवार के बारे में सोचने को कहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned