नेहरू पार्क में पेड़ों की कटाई से पर्यावरण प्रेमी नाराज कहा देंगे श्रद्धांजली

नेहरू पार्क में पुराने पेड़ों की कटाई के मामले में पार्क की हालत को देखकर उन्होंने खासी नाराजगी व्यक्त की

By: Devendra Karande

Published: 12 Nov 2017, 09:11 PM IST

बैतूल। नेहरू पार्क में छटाई के नाम पर तीस से चालीस साल पुराने पेड़ों की कटाई के मामले में रविवार को शहर के जागरूक नागरिक एवं पर्यावरण प्रेमी पार्क पहुंचे। पार्क की हालत को देखकर उन्होंने खासी नाराजगी व्यक्त की और कहा कि नगरपालिका ने पेड़ों की कटाई नहीं की है बल्कि हत्या कर दी है। वे पेड़ों को श्रद्धांजली देकर इसका शोक मनाएंगे। पार्क में घूमने आने वाले लोगों की संख्या भी आज नगण्य रही। इधर मामले के तूल पकड़ते ही सीएमओ अशोक शुक्ला दिन भर से अपना मोबाइल फोन बंद कर लापता हो गए थे। उल्लेखनीय हो कि पत्रिका ने १२ नवंबर को अनोखी सफाई: पक्षी करते थे बीट, इसलिए नपा ने ४० साल पुराने पेड़ ही कटवा डाले शीर्ष से खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद शहर के जागरूक नागरिक नगरपालिका से मामले में सवाल कर रहे हैं।
वाइल्ड लाइफ के नियमों के विरूद्ध
जागरूक लोगों का कहना था कि वाइल्ड लाइफ के नियमों की अनदेखी करते हुए पेड़ों की कटाई की गई है। वाइल्ड लाइफ नियमों को ताक पर रखकर पक्षियों के घरोंदे को उजाड़ा गया है। पक्षी हो या जानवर आप किसी के घर को बर्बाद नहीं कर सकते, लेकिन सौंदर्यीकरण के नाम पर नगरपालिका ने पक्षियों से घरौंदा छीन लिया बल्कि पेड़ों को भी मौत के घाट उतार दिया। रविवार छुट्टी के चलते आज काम बंद रखा गया था। वहीं पर्यावरण प्रेमी टीटू पांडे, अवध हजारे एवं अमित चौधरी आज पार्क का जायजा लेने पहुंचे और उन्होंने स्थिति को देखने के बाद खासी नाराजगी व्यक्त की।
सीएमओ ने बंद किया फोन
नेहरू पार्क में पेड़ों की कटाई को लेकर पत्रिका द्वारा खबर प्रकाशित किए जाने के बाद लोगों में नगरपालिका की इस कार्रवाई को लेकर खासा आक्रोश नजर आया। मामले में सवाल-जवाब होने एवं सफाई देने बचने के लिए सीएमओ ने अपना मोबाइल फोन भी बंद कर दिया था। जिसके कारण उनसे संपर्क नहीं हो सका। नगरपालिका द्वारा काटे गए पेड़ों की लकडिय़ों को भी ट्रकों से भरकर भिजवाया गया लेकिन इन्हें कहा रखा जा रहा है यह पता नहीं।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned