नेहरू पार्क में मौत को गड्ढा, नपा आंखे बंद कर बैठी

नेहरू पार्क में मौत को गड्ढा, नपा आंखे बंद कर बैठी

Ghanshyam Rathore | Publish: Mar, 17 2019 08:21:19 PM (IST) Betul, Betul, Madhya Pradesh, India

शहर के सबसे बड़े नेहरू पार्क में मौत का गड्ढा किसी भी दिन हादसे का बड़ा कारण बन सकता है। नगरपालिका द्वारा कुछ साल पहले पानी के लिए पार्क के अंदर ट्यूबवैल कराया गया था लेकिन पानी नहीं मिलने पर बोर को खुला ही छोड़ दिया गया है।

बैतूल। शहर के सबसे बड़े नेहरू पार्क में मौत का गड्ढा किसी भी दिन हादसे का बड़ा कारण बन सकता है। नगरपालिका द्वारा कुछ साल पहले पानी के लिए पार्क के अंदर ट्यूबवैल कराया गया था लेकिन पानी नहीं मिलने पर बोर को खुला ही छोड़ दिया गया है। बोर का मुंख खुला होने के कारण बच्चे अक्सर इसमें झांकने की कोशिश करते हैं। ऐसे में कभी भी कोई बड़ा हादसा होने की आशंका बनी हुई है। बताया गया कि पार्क में दो बोर हैं और दोनों के मुंह खुले हुए हैं।
आज तक नहीं दिया गया ध्यान
गर्मी का मौसम शुरू होने के साथ ही पार्क में बच्चों की संख्या बढऩा शुरू हो गई है। देर शाम तक बच्चें पार्क में घूमते हैं ऐसे में बोर का मुंह खुला होने के कारण हादसे का अंदेशा भी बना हुआ है। पूर्व में बच्चों के बोर में गिर जाने की घटनाएं भी खबरें भी सामने आ चुकी हैं। जिसके चलते इन बोरों को बंद किया जाना जरूरी हो गया है। बताया गया कि पार्क के पीछे की तरफ लगा एक बोर तो सालों पुराना है जो सूख गया है लेकिन इसे बंद नहीं किया गया है। उसका मुंह हमेशा खुला रहता है। अक्सर बच्चे इसमें झांकने की कोशिश करते हैं। इसी प्रकार पार्क में पीछे की तरफ हैंडपंप लगा हुआ था। जिसे खराब होने के बाद निकाल लिया गया लेकिन हैंडपंप के गड्ढें को भरा नहीं गया है।
इनका कहना
- मुझे ट्यूबवैल के बारे में जानकारी नहीं है। मैं तत्काल ट्यूबवैल को बंद किए जाने के लिए निर्देशित करती हूं।
- प्रियंका सिंह, सीएमओ नगरपालिका बैतूल।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned