बस और ट्रक की भिड़ंत में एक की मौत, ३४ यात्री घायल

बैतूल इंदौर हाईवे 59-ए चिचोली खाक चौक हनुमान मंदिर के सामने बुधवार सुबह साढ़े नौ बजे तेज रफ्तार ट्रक की बस से भिडं़त हो गई। ट्रक की चपेट में आने से साइकिल सवार एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई।

By: ghanshyam rathor

Published: 05 Sep 2019, 02:03 AM IST


चिचोली। बैतूल इंदौर हाईवे 59-ए चिचोली खाक चौक हनुमान मंदिर के सामने बुधवार सुबह साढ़े नौ बजे तेज रफ्तार ट्रक की बस से भिडं़त हो गई। ट्रक की चपेट में आने से साइकिल सवार एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं हादसे में बस में सवार ३४ यात्री घायल हो गए, जिसमें छात्र भी शामिल है। घायलों को चिचोली के अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। वही गंभीर दस घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती किया है। एक महिला ट्रक में फंस गई थी,जिसे आधा घंटे की मशक्कत के बाद सुरक्षित निकाल लिया गया।
पुुलिस के मुताबिक नागपुर से हरदा की ओर एक ट्रक जा रहा था। वहीं सामने की ओर से लक्ष्मीनारायण कंपनी की बस चिरापाटला से चिचोली की ओर आ रही थी। ट्रक और बस की खाक चौक में भिड़ंत हो गई। भिड़ंत होते ही चीख-पुकार चालू हो गई। ट्रक और बस की भिड़त में बस में सवार सामने बैठे यात्री कांच तोड़कर बाहर फिका गए। दुर्घटना में बस में सवार ३४ यात्री घायल हो गए। घायलों में अधिकांश लोग मजदूर थे, जो मजूदरी करने के लिए मांडवदा गाव से बैतूल आ रहे थे। भिड़ंत के बाद ट्रक अनियंत्रित होकर खेत में घुस गया। ट्रक ने साइकिल सवार गोंण्डुमंडई निवासी 40 वर्षीय रंगलाल चौहान को भी अपनी चपेट में ले लिया। रंगलाल साइकिल से मजदूरी करने के लिए जा रहा था। इस दौरान ट्रक और बस की भिड़त होने से ट्रक अनियंत्रित होकर रंगलाल पर आ गिरा। जिससे रंगलाल की ट्रक के नीचे दबने से मौत हो गई। रंगलाल को जेएसीबी की सहायता से करीब दो घंटे की मशक्त के बाद में निकाला गया।
बस ड्राइवर भी हुआ घायल
हादसे में बस ड्राइवर भी घायल हो गया। 10 यात्री गंभीर रूप से घायल होने से जिला अस्पताल में भर्ती किया है। दुर्घटना में घायलों को १०० डायल, 108 एवं पुलिस की मदद से बस से बाहर निकाला गया। हादसे की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी आरडी शर्मा एवं तहसीलदार लवीना घागरे घटनास्थल पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि जिस स्थान पर यह हादसा हुआ वह पहले से ही डेंजर जोन के नाम से घोषित है, उसके बाद भी वाहन चालकों द्वारा सुरक्षित वाहन नहीं चलाए जा रहे है, जिसके चलते ही आए दिन हादसे हो रहे है।
महिला यात्री की बाल-बाल बची जान
बस में मांडवदा से मजदूरी करने के लिए १८ वर्षीय रामकली पिता नागु उइके बैतूल आ रही थी। वह बस में सामने बैठी थी। भिड़ंत होते ही सामने की ओर से खेत में जा गिरी और ट्रक के बम्पर के नीचे दब गई, जिसको पुलिस के पहुंचने पर करीब आधा घंटे की मशक्त के बाद में सुरक्षित निकाल लिया गया। फावड़ा और सब्बल से जमीन को खोदकर ट्रक के बम्पर के नीचे से निकाला।

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned