ओपीडी ओवर फ्लो, वार्ड हाउसफुल

ओपीडी ओवर फ्लो, वार्ड हाउसफुल

Rakesh Kumar Malviya | Publish: Sep, 09 2018 11:11:20 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जिला अस्पताल में वायरल अटैक से भर्ती मरीजों की संख्या बढक़र दोगुनी हुई, ओपीडी हजार तक पहुंची, वार्ड में भर्ती संख्या450 से ऊपर, लेटकर करना पड़ रहा इलाज

बैतूल। जिले में वायरल अटैक के चलते जिला अस्पताल की ओपीडी जहां हजार के पास पहुंच गई है। वहीं भर्ती मरीजों का आंकड़ा भी रोजाना बढ़ते जा रहा है। 200 बेड वाले जिला अस्पताल में वर्तमान में 450 के लगभग मरीज भर्ती है। इनमें से ज्यादातर मरीज मौसम में बदलाव की वजह से बीमार होने के कारण भर्ती हुए हैं। इन भर्ती मरीजों में छोटे बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा बताई जाती है।

25 बेड 47 बच्चे भर्ती
जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में कुल 25 बेड मौजूद हैं लेकिन भर्ती बच्चों की संख्या ४५ बताई जाती है। हालांकि एक दिन पहले 65 से अधिक बच्चे भर्ती थी। जिनमें से 17 बच्चों को शुक्रवार शाम डिस्चार्ज किया गया है। इसी प्रकार पीएनसी वार्ड में बेडो की कुल क्षमता 24 बताई जाती है लेकिन यहां भर्ती मरीज 42 है। सर्किजकल वार्ड में कुल ३६ बेड है लेकिन भर्ती मरीज 46 है। इस स्थिति के चलते एक बेड पर जहां दो मरीज लेटे हुए हैं तो वहीं कुछ मरीजों को जमीन के नीचे लेटकर इलाज करना पड़ रहा है। इन भर्ती मरीजों में छोटे बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा बताई जाती है।

प्रायवेट अस्पताल में भीड़
सरकारी अस्पताल जहां मरीजों की रोजाना बड़ती संख्या के कारण हाउसफुल नजर आ रहे हैं। वहीं प्रायवेट अस्पतालों की स्थिति भी यहीं है। लिंक रोड स्थित एक चिड्रन हॉस्पिटल में रोजाना एक सैकड़ा से अधिक बच्चे सर्दी, खांसी और बुखार के आ रहे हैं। डॉक्टर के मुताबिक मौसम में जो बदलाव हुआ है उसकी वजह से बच्चों पर असर ज्यादा पड़ रहा है। ज्यादातर सर्दी, खांसी और बुखार से पीडि़त बच्चे ही आ रहे हैं। जिला अस्पताल में वायरल अटैक से भर्ती मरीजों की संख्या बढक़र दोगुनी हुई, ओपीडी हजार तक पहुंची, वार्ड में भर्ती संख्या ४५० से ऊपर, लेटकर करना पड़ रहा इलाजभीड़ के चलते स्थिति यह है कि डॉक्टरों के पास परिजनों को नंबर लगाकर लम्बा इंतजार करना पड़ रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned