पढ़े, खाने की तेल में मिलाया पॉम आइल, प्रशासन ने सील की किराना दुकान

लॉक डाउन के दौरान किराना दुकान की आधी शटर खोलकर चोरी छुपे मिलावटी खाद्य तेल बेचे जाने की शिकायत के बाद एसडीएम ने राहिल टे्रडर्स किराना दुकान को सील कर दिया है। वहीं खाद्य तेल का सेम्पल भी जांच के लिए भेजा रहा है। किराना व्यवसायी द्वारा पॉम आइल मिलाकर खाद्य तेल बेचा जा रहा था।

By: Devendra Karande

Published: 31 Mar 2020, 05:04 AM IST

बैतूल/भैंसदेही। लॉक डाउन के दौरान किराना दुकान की आधी शटर खोलकर चोरी छुपे मिलावटी खाद्य तेल बेचे जाने की शिकायत के बाद एसडीएम ने राहिल टे्रडर्स किराना दुकान को सील कर दिया है। वहीं खाद्य तेल का सेम्पल भी जांच के लिए भेजा रहा है। किराना व्यवसायी द्वारा पॉम आइल मिलाकर खाद्य तेल बेचा जा रहा था। जिसकी शिकायत मिलने के बाद प्रशासन द्वारा कार्रवाई की गई है। किराना व्यवसायी द्वारा होम डिलेवरी करने की परमिशन प्रशासन से ली गई थी लेकिन इसकी आड़ में वह दुकान से ही लोगों को खाद्यान्न बेच रहा है।इधर बैतूल में भी होम डिलेवरी के नाम पर महंगी दरों में राशन दुकानदारों द्वारा बेचा जा रहा है। इसी प्रकार उद्यानिकी विभाग के कृषक समृद्धि बाजार द्वारा बेची जा रही सब्जियों के दाम भी काफी महंगे हैं।
घर ले जाते ही जम गया तेल
नगर के कुछ किराना व्यापारी लॉक डाउन में मिली अनुमति का अपने स्वार्थ के लिए धन उगाही का जरिया बनाते हुए लोगों के स्वास्थ से खिलवाड़ कर मिलावटी तेल बेच रहे है। साथ ही गरीब आदिवासियों को बेभाव किराना सामान बेचकर उनका आर्थिक शोषण भी किया जा रहा है। रविवार को ऐसा ही मामला भैंसदेही नगर में सामने आया। जब वार्ड क्रमांक 11 के एक उपभोक्ता ने थाना परिसर के करीब राहिल ट्रेडर्स के संचालक राहिल काबरा की किराना दुकान पर 5 लीटर खाने का तेल मांगा तो दुकान संचालक द्वारा १०० रुपए लीटर के हिसाब से मिलावटी पॉम आइल वाला तेल दे दिया गया। घर ले जाते ही तेल पूरा जम गया। जिससे संदेह होने पर उपभोक्ता द्वारा प्रशासन के उच्च अधिकारियों को सूचना दी गई।
दुकान को सील किया गया
मिलावटी खाद्य सामग्री बेचने के मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम राधेश्याम बघेल ने तेल के सेंपल को तहसील कार्यालय बुलाकर तत्काल तहसीलदार एवं सीएमओ को मौके पर पुलिस बल के साथ भिजवाया। साथ ही दुकान को सील करने के निर्देश दिए। अधिकारियों की टीम ने राहिल ट्रेडर्स की दुकान पर पहुंचकर पंचनामा बना। तेल से भरे डिब्बे को भी सील कर जांच के लिए भेजा जा रहा है। आगामी जांच तक पूरी दुकान को सील कर दिया गया। गौरतलब हो कि राहिल ट्रेडर्स द्वारा खाने के तेल में पॉम तेल मिलाकर धन कमाने का गोरखधंधा लंबे समय से किया जा रहा था, जिसको लेकर अन्य व्यापारी नगर के नाराज थे।
महाराष्ट्र के अमरावती से आता है पॉम आइल
पॉम आईल महाराष्ट्र के अमरावती शहर से आता है। लोगों का कहना था कि जब प्रशासन द्वारा मध्यप्रदेश एवं महाराष्ट्र की सीमा को सील कर दिया गया है तो मिलावटी तेल भैंसदेही कैसे पहुंच रहा है। इसका खुलासा होना भी जरूरी है। तेल में मिलावट करके यहां के लोगों के स्वास्थ से जो खिलवाड़ किया जा रहा है उसकी आम जनता ने पारदर्शिता पूर्वक जांच कर उक्त किराना व्यवसायी के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की है। यहां पर अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि दुकानदार द्वारा अन्य कितने लोगों को मिलावटी तेल बेचा गया है और कब से यह मिलावटी तेल बेचा जा रहा था।
होम डिलेवरी के नाम पर दुकान से बेच रहा था सामान
किराना व्यवसायी द्वारा लॉक डाउन का उल्लंघन करते हुए होम डिलीवरी के नाम पर अपने दुकान के आधे शटर खोलकर दुकान से किराना सामान की बिक्री धड़ल्ले से की जा रही थी। जबकि यह दुकान थाने से महज पांच कदम की दूरी पर है। जब पुलिस प्रशासन की नाक के नीचे इस तरह से दुकानें खोलकर लोगों को मिलावटी खाद्य सामग्री बेची जा रही है तो गली मोहल्लों में जो दुकानें संचालित हो रही है उनमें क्या स्थिति होगी। जबकि जिला कलेक्टर द्वारा जिले को हैजा अधिसूचित करते हुए मिलावटी खाद्य सामग्री बेचने जाने पर रोक लगाई गई है। वहीं कोरोना वायरस जैसी संक्रमण बीमारी का खतरा भी मंडरा रहा है ऐसे में खाद्य तेल में मिलावट होना लोगों के जीवन से खिलवाड़ है।
पूर्व नपा अध्यक्ष ने कहा कड़ी कार्रवाई हो
पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अनिल सिंह ठाकुर ने कहा कि तेल में मिलावट करने वाले दुकानदार के खिलाफ एसडीएम आरएस बघेल के द्वारा जो तत्काल कार्रवाई की गई है उसकी मैं सराहना करता हूं। खाने के तेल में मिलावटखोरों द्वारा गलत तरीके से धन कमाने की प्रतिस्पर्धा कर नगर के आमजनों एवं क्षेत्र के गरीब आदिवासियों के स्वास्थ के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसे मिलावटखोरों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भैंसदेही में और भी कुछ लोग ऐसे है जो इस गोरखधंधे में लगे है और तेल में मिलावट का काम कर रहे हैं उन पर भी प्रशासन सख्ती से कार्रवाई करे।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned