scriptPopulation as much as Amla city, yet not a single accessible toilet | आमला शहर जितनी आबादी, फिर भी बोडख़ी में नहीं एक भी सुलभ शौचालय | Patrika News

आमला शहर जितनी आबादी, फिर भी बोडख़ी में नहीं एक भी सुलभ शौचालय

दुकानदारों ने नगरपालिका प्रशासन से की शौचालय निर्माण की मांग

बेतुल

Updated: February 26, 2022 12:30:58 am

आमला. बोडख़ी शहर के मुख्य क्षेत्रों में आता है। इस क्षेत्र में बाजार और साप्ताहिक बाजार भी लगता है, लेकिन यहां दुकानदारों के लिए एक सुलभ शौचालय नहीं। इस वजह से यहां आने वाले लोगों और दुकानदारों को हर रोज परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कई बार व्यापारियों द्वारा बाजार में सुलभ शौचालय निर्माण कराने की मांग भी की जा चुकी है, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई। नगर के चंदू देशमुख, मुकेश डडारिया, संदीप पाटिल, राजा बाढ़बुदे का कहना है कि सरकार द्वारा स्वच्छता मिशन के तहत लोगों को खुले में शौच न करने के लिए जागरूक किया जाता है, लेकिन बोडख़ी बाजार में किसी भी जगह सुलभ शौचालय नहीं बनाए गए हैं। शौचालय नहीं होने से यहां पर गंदगी के हालात और बीमारियां फैलने का खतरा बना है। दुकानदारों से बाजारों में सुलभ शौचालय बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बाजार में आने वालों को इससे सुविधा होगी।
रोज सैकड़ों लोगों का होता है आना-जाना : बोडख़ी बड़े एरिया में फैला हुआ है और यहां आमला शहर जितनी ही आबादी रहती है। यहां खरीददारी के लिए मार्केट और सब्जी बाजार भी लगा है। इन बाजारों में बाहर क्षेत्र के व्यापारियों के साथ-साथ बड़ी संख्या में लोग खरीददारी के लिए भी हर रोज पहुंचते है। इनमें से महिलाओं की संख्या ज्यादा होती है। शौचालय के लिए लोग या तो गली या फिर एक दो स्थानों पर खाली पड़े प्लॉटों का इस्तेमाल करते हैं। महिलाओं को टॉयलेट जाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं हैं। ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को उठानी पड़ती है।
शासन को बोडख़ी बाजार का ध्यान ही नहीं
दुकानदारों का कहना है कि एक तरफ तो केंद्र व प्रदेश सरकार गांवों में घर-घर शौचालय बनवा रही है ताकि गांव खुले में शौच मुक्त हो सके, लेकिन शहरी क्षेत्र के बाजारों के हालात सुधारने की तरफ न सरकार कोई ध्यान दे रही है तो न ही नगरपालिका के अधिकारी। मंगलवार और शुक्रवार को साप्ताहिक बाजार भरता है। दुकानदारों के मुताबिक शौचालय किसी भी भीड़भाड़ वाले क्षेत्र के लिए जरुरी है। जनप्रतिनिधियों को उनकी समस्याओं का ज्ञान है, लेकिन अब तक समस्या का समाधान नहीं किया है, जबकि नगरपालिका के पास लाखों रुपए का बजट है। इसके बाद भी सुलभ शौचालय का निर्माण नहीं किया है। दुकानदारों ने नगरपालिका सीएमओ से उचित स्थान का चयन कर सुलभ शौचालय बनाने की मांग की है।
जमीन मिली तो बनाएंगे
बोडख़ी का अधिकांश एरिया एयरफोर्स के अधीन आता है। यदि जमीन मिलती है तो जरूर बोडख़ी के मार्केट में सुलभ शौचालय का निर्माण कराया जाएगा।
- नीरज श्रीवास्तव, सीएमओ नगरपालिका आमला
दुकानदारों ने नगरपालिका प्रशासन से की शौचालय निर्माण की मांग
दुकानदारों ने नगरपालिका प्रशासन से की शौचालय निर्माण की मांग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Bharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफापोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्जज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीअमरीकी शेयर बाजार धड़ाम, मंदी की आशंका के बीच दो साल की सबसे बड़ी गिरावटअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस काउंटडाउन कार्यक्रम में शामिल हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंहदुनिया की आखिरी रॉल्स रायल यूपी में, कंपनी ने भी लेने के लिए दिए ऑफर, 500 करोड विरासत के मालिक...
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.