पढ़े, रानीपुर में बारिश के साथ गिरे ओले

रानीपुर क्षेत्र के किसानों पर फिर एक बार मौसम की मार पड़ी है। सोमवार शाम को हुए अचानक मौसम परिवर्तन के बाद लगभग पौन घंटे तेज बारिश हुई। इस दौरान छोटी बेर आकर के ओले भी गिरे। बारिश के साथ ओले से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। जुआड़ी के किसान विक्रांत मेहतो ने बताया कि बारिश के साथ लगभग आधा घंटे गिरे ओले से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा।

By: Devendra Karande

Published: 31 Mar 2020, 05:02 AM IST

बैतूल/रानीपुर। रानीपुर क्षेत्र के किसानों पर फिर एक बार मौसम की मार पड़ी है। सोमवार शाम को हुए अचानक मौसम परिवर्तन के बाद लगभग पौन घंटे तेज बारिश हुई। इस दौरान छोटी बेर आकर के ओले भी गिरे। बारिश के साथ ओले से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। जुआड़ी के किसान विक्रांत मेहतो ने बताया कि बारिश के साथ लगभग आधा घंटे गिरे ओले से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। ओले की वजह से गेहंू की बालियां नीचे गिर गई है। बारिश से गेहंू काला पड़ गया है। इसके पूर्व में लगभग १५ दिन पहले बारिश हुई थी। जिससे खेतों में गेहूं की फसलें आड़ी हो गई थी। रानीपुर के कृषक बंशीलाल साहू ने बताया कि ओले और बारिश से किसानों को भारी नुकसान हुआ है। खेत में फसल पककर खड़ी है। फसल कटाई के लिए मजदूर नहीं मिल रहे हैं। इधर बैतूल में दोपहर से बादल छा गए थे। शाम को छह बजे के लगभग थोड़ी देर बारिश हुई और फिर बंद हो गई। दोबारा से बारिश शुरू हो गई। कुछ देर बारिश होने के बाद थम गई।
भैंसदेही में चना आकर के गिरे ओले
भैंसदेही में सोमवार शाम चार बजे से क्षेत्र में जोरदार बारिश हुई। बारिश के साथ ही लगभग आधा घंटे तक चने के आकार के ओले भी गिरे। शाम छह बजे तक बारिश होते रही। ओले से फसलों को नुकसान होना बताया जा रहा है। किसानों का कहना है कि लॉक डाउन के चलते मजदूर नहीं मिलने से कटाई नहीं हो रही है। बारिश और ओले ने फसल बर्बाद कर दी है।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned