पढ़े, लॉक डाउन तोड़ा, पुलिस ने पकड़ा तो बता रहे हैं पेट में तकलीफ है हाजमोला और पुदीनहरा लेने जा रहे

यातायात पुलिस द्वारा मैं नहीं सुधरूगा समाज का दुश्मन हूं....जैसा अभियान चलाने के बाद भी लोगों द्वारा लॉक डाउन का पालन न करते हुए घरों से बाहर निकलने का क्रम जारी है। लॉक डाउन का सख्ती से पालन नहीं होने पर पुलिस ने अब चालानी कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। इस कार्रवाई से बचने के लिए भी लोग तहर-तरह की बहानेबाजी कर रहे हैं।

By: Devendra Karande

Published: 03 Apr 2020, 05:03 AM IST

बैतूल। यातायात पुलिस द्वारा मैं नहीं सुधरूगा समाज का दुश्मन हूं....जैसा अभियान चलाने के बाद भी लोगों द्वारा लॉक डाउन का पालन न करते हुए घरों से बाहर निकलने का क्रम जारी है। लॉक डाउन का सख्ती से पालन नहीं होने पर पुलिस ने अब चालानी कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। इस कार्रवाई से बचने के लिए भी लोग तहर-तरह की बहानेबाजी कर रहे हैं। जहां कुछ वाहन चालक डॉक्टर की पुरानी पर्ची बताते हुए पकड़े गए, तो कुछ पेट में तकलीफ होने का बहाना बताकर हाजमोला और पुदीनहरा ले जाने की बात कहते नजर आए। पुलिस द्वारा ऐसे एक सैकड़ा वाहन चालकों के विरूद्ध पिछले दो दिनों में चालानी कार्रवाई कर २१ हजार रुपए का चालान वसूल किया गया है। इसके अलावा बुुधवार रात को रात्रि भ्रमण के दौरान पुलिस द्वारा दो ऑटो को भी पकड़ा गया। जिसमें करीब २०० से २५० बायलर मुर्गियां भरी हुई थी। जिसके चलते तीन लोगों के विरूद्ध धारा १८८ के तहत कार्रवाई भी की गई है।
दो दिन में ८३ चालान काटे
लॉक डाउन के दौरान कितनी बड़ी संख्या में लोग घरों से बाहर वाहन लेकर निकल रहे हैं इसका अंदाजा यातायात पुलिस द्वारा की जा रही चालानी कार्रवाई से पता चलता है। पिछले दो दिनों में पुलिस द्वारा ८३ चालान काटे गए हैं। इनमें करीब २१ हजार रुपए का समन शुल्क वसूल किया गया है। बुधवार को जहां पुलिस द्वारा ४८ वाहनों के विरूद्ध चालानी कार्रवाई कर ११ हजार ५०० रुपए का समन शुल्क वसूला था। वहीं गुरुवार को ३५ वाहनों के चालान दोपहर तक काटे गए। इनमें ९ हजार ५०० रुपए का समन शुल्क वसूला गया।
कार्रवाई से बचने दिखा रहे डॉक्टर की पर्ची
लॉक डाउन के दौरान घरों से बाहर निकलने वाले लोग पुलिस की कार्रवाई से बचने के लिए डॉक्टर की पुरानी पर्चियों का सहारा भी ले रहे हैं। शहर के कई लोग तमाम तरह के बहाने बनाकर बाहर घूमने से बाज नहीं आ रहे हैं। कोई पुरानी दवा की पर्ची लेकर, तो कोई पुरानी दवाई की खाली शीशी लेकर, तो कोई खाली टेबलेट मेडिसीन का रैपर लेकर बाहर निकल रहा हैं, पुलिस के पूछने पर बताते है कि वह मेडिकल जा रहे है। कुछ अस्पताल में भर्ती मरीज से मिलने जाने का बहाना बनाकर बाहर घूमने निकल रहे है। ऐसे सभी लोगों पर आज सुबह से ही कोतवाली एवं यातायात पुलिस ने चालानी कार्यवाही की है। साथ ही सख्त हिदायत दी। पुलिस प्रशासन की आम लोगों से अपील है कि अपने घरों पर रहे लॉक डाउन का पालन करे और कोरोना वायरस की रोकथाम में प्रशासन का सहयोग करें ।
दो ऑटो में भरकर ले जा रहे थे मुर्गियां पुलिस ने पकड़ा
लॉक डाउन के दौरान रात के अंधेरे में दो ऑटो में बायलर मुर्गियों को भरकर ले जाते हुए पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ लिया। यातायात प्रभारी संदीप सुनेश ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान बुधवार रात को वे गश्त पर निकलने थे। चक्कर रोड पर उन्हें दो ऑटो खड़े दिखाई दिए। जिनमें मुर्गे-मुर्गियां भरे हुए थे। जब ऑटो चालक से परिवहन करने के बारे में पूछताछ की गई तो उसके द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। जिस पर यातायात पुलिस द्वारा दोनों ऑटो को कोतवाली थाने लाकर खड़ा कराया गया। एक ऑटो चालक सहित दो अन्य लोगों के विरूद्ध पुलिस द्वारा धारा १८८ के तहत कार्रवाई की गई है।
राशन मिलने की अफवाह से बस्ती के लोग सड़क पर आए
सोसायटी से राशन बाटे जाने की अफवाह के चलते गंज स्थित ओझाढाना बस्ती के करीब दो दर्जन से अधिक लोग गुरुवार को सड़क पर उतर आए और बाबू चौक होते हुए गंज कांतिशिवा चौक तक जा पहुंचे। बड़ी संख्या में राशन के लिए लोगों को सड़क पर उतरा देख डीएसपी संतोष पटेल ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाइश दी और उन्हें अपने घरों को वापस लौटाया। डीएसपी ने बताया कि मोहल्ले में किसी ने भ्रामक सूचना दी थी कि सोसायटी से राशन का वितरण किया जा रहा है जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग राशन लेने के लिए लॉक डाउन के दौरान घरों से बाहर निकल गए थे।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned