पढ़े, शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने नपा ने शुरू किया बर्तन बैंक

शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए नगरपालिका ने बर्तन बैंक के नाम से एक अनोखे अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के तहत जरूरत मंदों को विभिन्न आयोजनों के लिए बर्तन मुहैया कराए जाएंगे। बर्तनों के बदले में नगरपालिका सुरक्षा निधि की राशि लेगी।

By: Devendra Karande

Published: 03 Jan 2020, 05:04 AM IST

बैतूल। शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए नगरपालिका ने बर्तन बैंक के नाम से एक अनोखे अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के तहत जरूरत मंदों को विभिन्न आयोजनों के लिए बर्तन मुहैया कराए जाएंगे। बर्तनों के बदले में नगरपालिका सुरक्षा निधि की राशि लेगी। जब यह बर्तन वापस लौटाए जाएंगे तो सुरक्षा निधि की राशि भी वापस लौटा दी जाएगी। इस तरह फ्री में आम लोग बर्तनों का इस्तेमाल घरों में होने वाले छोटे-मोटे आयोजनों के लिए कर सकेंगे। नगरपालिका द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण २०२० के तहत की जाने वाली गतिविधियों के अंतर्गत इस अभियान की शुरूआत की गई है।
बर्तन खरीदने के लिए किया चंदा
नगरपालिका द्वारा इस अभियान के लिए लोगों से चंदा किया जा रहा है। अधिकारी वर्ग से लेकर आम लोगों, व्यापारियों तक से स्वेच्छानुसान चंदा एकत्रित किया गया है। इसी चंदे से १००-१०० पीस थाली और ग्लास खरीदे गए हैं। जिसे बर्तन बैंक में रखा जाएगा। नपा के इस अभियान से प्रेरित होकर कई लोग स्वेच्छा से सहयोग राशि देने भी सामने आ रहे हैं। नपा का उद्देश्य है कि इस अभियान के माध्यम से बैतूल को प्लास्टिक मुक्त किया जा सके। वर्तमान में कई आयोजनों में लोग प्लास्टिक युक्त डोने-पत्तल, ग्लास आदि का इस्तेमाल करते हैं जिसका कचरा प्रदूषण तो बढ़ाता ही है साथ ही जमीन की उर्वरक क्षमता को भी कम करता है। इस कचरे से मुक्ति दिलाने के लिए यह छोटा सा प्रयास लोगों के लिए प्रेरणादायी साबित हो सकता है।
फ्री में मिलेंगे बर्तन लेकिन देना होगी सुरक्षा निधि
नगरपालिका द्वारा बर्तन बैंक से जरूरतमंदों को फ्री में बर्तन उपलब्ध कराए जाएंगे लेकिन बर्तनों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा निधि जमा कराई जाएगी। काम खत्म होने के बाद जब बर्तन वापस लौटाए जाएंगे तो यह सुरक्षा निधि संबंधित को वापस लौटा दी जाएगी। इस प्रकार से यह फ्री सेवा होगी। नगरपालिका का उद्देश्य है कि इसे आगे चलकर बढ़ा रूप दिया जाए ताकि शादी-विवाह जैसे आयोजनों के लिए भी लोग बर्तन बैंक से बर्तन ले सकें। पर्यावरण संरक्षण के लिए शुरू की गई यह कवायद आने वाले दिनों में बेहतर परिणाम ला सकती है।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned