पढ़े, विवाद के बाद मंदिर को किया गया डिसमेंटल

साढ़े दस करोड़ की लागत से गंज में बन रहे मंडी काम्प्लेक्स निर्माण के दौरान मंदिर हटाए जाने को लेकर विवाद की स्थिति निर्मित होने के बाद रविवार को नगरपालिका अमले द्वारा पुलिस बल की मौजूदगी में मंदिर को हटाने की कार्रवाई की गई।

By: Devendra Karande

Published: 06 Jan 2020, 05:03 AM IST

बैतूल। साढ़े दस करोड़ की लागत से गंज में बन रहे मंडी काम्प्लेक्स निर्माण के दौरान मंदिर हटाए जाने को लेकर विवाद की स्थिति निर्मित होने के बाद रविवार को नगरपालिका अमले द्वारा पुलिस बल की मौजूदगी में मंदिर को हटाने की कार्रवाई की गई। मंदिर को डिसमेंटल करने से पूर्व वहां मौजूद प्रतिमाओं की पूजा-अर्चना कर उन्हें कपड़े में लपेटकर बीजासनी माता मंदिर में रखवाया गया। इसके बाद मंदिर के चारों तरफ लगी लोहे की ग्रिल को कटर से काटकर अलग किया गया। बाद में जेसीबी के द्वारा मंदिर के पक्के चबूतरे को डिसमेंटल करने की कार्रवाई की गई। मंदिर में मौजूद सालों पुराने पीपल के पेड़ को सोमवार को काटकर हटाया जाएगा। करीब एक सप्ताह बाद दोबारा नगरपालिका द्वारा मंदिर को हटाने के लिए कार्रवाई की गई।
विवाद के कारण बीच में रोकना पड़ा था काम
मंदिर को हटाने के लिए करीब एक सप्ताह पहले नगरपालिका अमले द्वारा कार्रवाई शुरू की गई थी लेकिन इसको लेकर वहां विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी। स्थानीय लोगों के भारी विरोध के कारण नगरपालिका को बैकफुट पर आना पड़ा था। मंदिर और पेड़ नहीं हटाए जाने को लेकर मंदिर से जुड़े लोगों द्वारा जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा गया था। चूंकि मंडी काम्प्लेक्स का निर्माण कार्य मंदिर नहीं हटाए जाने के कारण शुरू नहीं हो पा रहा था। इस वजह से आज मंदिर को हटाने की कार्रवाई की गई। नगरपालिका द्वारा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर मंदिर को हटाने की प्रक्रिया की गई। चूंकि मंदिर से लोगों की आस्था जुड़ी थी इसलिए मंदिर में मौजूद प्रतिमाओं को पहले पूजन कर उन्हें वहां से हटाया गया। क्रेन नहीं मिलने के कारण आज मंदिर में मौजूद पीपल के पेड़ को हटाया नहीं जा सका है। सोमवार को पेड़ को काटकर हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned