मरीज के नाम पर जननी 108 में ढो रहे सवारी

करोना संक्रमण से पूरा देश लाक डाउन है। सरकार द्वारा संक्रमण महामारी फैलने के डर से वाहनों पर रोक लगा रखी है, जिसके बाद भी लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने से बाज नहीं आ रहे है। इसका फायदा आपातकालीन सेवा में लगे जननी 108 वाहन चालक भी जमकर उठा रहे है।

By: ghanshyam rathor

Published: 01 Apr 2020, 08:37 PM IST


चिचोली। करोना संक्रमण से पूरा देश लाक डाउन है। सरकार द्वारा संक्रमण महामारी फैलने के डर से वाहनों पर रोक लगा रखी है, जिसके बाद भी लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने से बाज नहीं आ रहे है। इसका फायदा आपातकालीन सेवा में लगे जननी 108 वाहन चालक भी जमकर उठा रहे है। वाहन चालक इन दिनों चोरी-छिपे सवारियां ढोने में लगे हुए है। मामला चिचोली थाना क्षेत्र से सामने आया है। थाना प्रभारी आरडी शर्मा ने बताया कि बुधवार को चिरापाटला बेरियर पर मरीज का बहाना बताकर इंदौर की ओर से जननी 108 में सवारी लेकर आते हुए पकड़ा है। सूचना पर चिचोली बेरियल के पास तेज गति में सायरन बजाते हुए जा रही थी, जिसको रोककर जांच की गई। वाहन में 5 बच्चे सहित 16 लोग सवार थे। सभी इंदौर से मुतलाई और आमला की ओर जा रहे थे। आपातकालीन सेवा में लगे वाहन का फायदा उठाकर चालक द्वारा सवारी लाना पाया गया है। वाहन चालक सोनू देशमुख पर 188 के तहत कार्रवाई की गई । वाहन को थाने में खड़ा कराया कराया गया। वाहन में सवार सभी लोगों का चिचोली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। सभी स्वस्थ्य पाए गए, इसके बाद उन्हें वाहन की सुविधा देकर, गांव भेजा दिया गया है। जननी वाहन मुलताई का बताया जा रहा है।


एबीवीपी ने शुरू किया अभियान
बैतूल। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लॉकडाउन में फंसे विद्यार्थियों एवं समाज की सहायता के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। संगठन के जिला संयोजक निलेश गिरी गोस्वामी ने बताया कि देश के अलग-अलग राज्यों में अध्ययन करने वाले छात्र जो किराए के कमरे या फिर छात्रावास में रहे रहे है, उन्हें असुविधा हो रही है। ऐसे छात्रों को खाद्यान सामग्री पहुंचाई जा रही है। साथ ही संगठन द्वारा प्रधानमंत्री राहत कोष के लिए राशि भी जुटाई जा रही है।

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned