सारणी पावर प्लांट की 200 मेगावॉट की छह नंबर इकाई बंद

उत्पादन पहुंचा 675 मेगावॉट पर

पाथाखेड़ा. मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी की २०० मेगावॉट की छह नंबर इकाई रविवार सुबह उसका ट्यूब लीकेज होने के कारण इकाई को बंद करना पड़ा है। बताया जाता है कि यह इकाई सुबह ही लाइट ऑफ हुई थी। उसके बाद ट्यूब लीकेज होने के कारण इस इकाई को बंद करना पड़ा। वर्तमान समय में 210 मेगावॉट की सात नंबर इकाई से 175 मेगावॉट बिजली का उत्पादन लिया जा रहा है और 250-250 मेगावॉट की 10 और 11 नंबर इकाई अपनी क्षमता के अनुरूप चल रही है। इस दोनों इकाइयों से 500 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा है। इस तरह ताप विद्युत गृह सारनी की 1330 मेगावॉट की क्षमता वाले पावर प्लांट से 675 मेगावॉट बिजली उत्पादन लिया जा रहा है,जो अपनी क्षमता से 655 मेगावॉट कम है। बताया जाता है कि 30 मार्च से 210-210 मेगावॉट की आठ और नौ नंबर इकाई को बंद करके यह दोनों इकाइयों का कोयला खंडवा भेजा जा रहा है। मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी सारनी प्रवक्ता अमित बंसोड ने बताया कि रविवार को सुबह 10 बजे के लगभग दो सौ मेगावाट की छह नंबर इकाई का ट्यूब लीकेज होने के कारण इकाई को बंद किया गया है। ताप विद्युत गृह सारनी से 675 मेगावाट बिजली का उत्पादन लिया जा रहा है। जबकि दो लाख के आसपास कोयले का स्टॉक बना हुआ है।
शहीदों की याद में घरों में जलाए दीए
बैतूल. करगिल विजय दिवस के अवसर पर घर-आंगन में दीप जलाकर अमर जवानों को बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के पदाधिकारियों एवं सदस्यों द्वारा रविवार श्रद्धांजलि अर्पित की। रविवार शाम 6.30 बजे समिति के पदाधिकारियों, सदस्यों एवं नन्हें सदस्यों ने भी श्रद्धांजलि के दीये जलाकर देश के लिए बलिदान हुए सैनिकों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा लगाए गए टोटल लॉकडाउन का पालन करते हुए शहीदों के लिए श्रद्धांजलि का दीया शहीद भवन परिवर में न जलाकर घर के आंगन, देहरी और तुलसी के सामने जलाया। घर के सामने रंगोली उकेरी तो किसी ने फूलों से तुलसी का चबूतरा सजाया।

yashwant janoriya
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned