स्कूल बंद होने के बाद भी घर नहीं पहुंचा संचालक, पत्नी ने जाकर देखा तो निकल गई चीख

स्कूल बंद होने के बाद भी घर नहीं पहुंचा संचालक, पत्नी ने जाकर देखा तो निकल गई चीख

Rakesh Kumar Malviya | Updated: 25 Jun 2018, 11:48:16 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने सिद्धार्थ के शव को फंदे से उतारकर पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा, आत्महत्या क्यों की स्पष्ट नहीं हुआ

सारनी. टीआरएस स्कूल के संचालक सिद्धार्थ सिंह ने अपने ही स्कूल के स्टॉफ रूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना रविवार दोपहर की है। लेकिन जानकारी शाम करीब 5 बजे उस वक्त लगी। जब मृतक की पत्नी और मृतक के मित्र उन्हें ढूंढते हुए स्कूल पहुंचे। बताया जाता है कि जब मृतक की पत्नी पति को स्कूल में ढूंढते हुए स्टॉफ रुम में पहुंची और देखते ही जोर-जोरे से चिल्ला कर रोने लगी, उनके साथ आए पति के मित्र जब रुम में पहुंचे तो देखा कि सिद्धार्थ फांसी पर लटका हुआ था। मित्रों ने इसकी सूचना पुलिस को दी मौके पर पहुंची पुलिस ने स्कूल संचालक सिद्धार्थ सिंह के शव को फंदे से उतारकर पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पुलिस ने बताया कि सिद्धार्थ सिंह आत्महत्या क्यों की इसका कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं हुआ। हालांकि पुलिस को मृतक के पास से मोबाइल समेत अन्य सामग्री मिली है।

दोस्तों से मुलाकात कर गया था स्कूल
शिक्षा विद केबी सिंह के पुत्र सिद्धार्थ सिंह की मौत की खबर लगते ही पूरे शहर में शोक की लहर दौड़ पड़ी। देखते ही देखते घटना स्थल पर सैकड़ों की संख्या में लोग इक_े हो गए। टीआई महेन्द्र सिंह चौहान समेत अन्य लोगों ने शव को फंदे से उतारकर पंचनामा बनाया और पोस्टमार्टम के लिए घोड़ाडोंगरी अस्पताल ले गए। बताया जा रहा है कि सिद्धार्थ चार दिनों से दिल्ली में था। शनिवार को लौटा था। रविवार सुबह अपने परम मित्र की दुकान पर गया और दोस्तों से मुलाकात की। इसके बाद बाइक से स्कूल पहुंचे और कुछ देर काम किया। स्टॉफ रूम में ही रस्सी का फंदा गले में डालकर आत्महत्या कर ली। सिद्धार्थ भारतीय जनता पार्टी के नेता और शिक्षा प्रकोष्ठ के जिला संयोजक भी थे।

पत्नी से नाराज पति कुएं में कूदा
बैतूल. आठनेर थाना में ग्राम राबडया में मायके में रह रही पत्नी से नाराज पति ने रविवार सुबह कुएं में छलांग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक को समझा बुझा कर कुएं से बाहर निकाल लिया। थाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार रायसेन निवासी द्वारका का विवाह राबडया निवासी एक महिला से हुआ था। महिला कई दिनों से मायके में रह रही थी। महिला पति रायसेन चलने के लिए कह रहा था, इसी बात को लेकर रविवार सुबह दोनों के बीच में विवाद हो गया। शराब के नशे पति से गांव के कुएं में छलांग लगा दी। ग्रामीणों ने युवक को निकाले की कोशिश की, लेकिन युवक कुएं से निकलने को तैयार नहीं था। पुलिस ने युवक को कुएं के बाहर निकाला गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned