नहीं लगेगी दुकानें, सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक जारी रहेगी घर होम डिलेवरी

आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी पर होगी कार्रवाई

सारनी. लॉक डाउन के दौरान दुकानें नहीं खुलेगी। सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक घर पहुंच सेवा जारी रहेगी।इसके लिए किराना, सब्जी, फल, डेयरी और आटा चक्की से जुड़े 47 व्यापारियों को नगरपालिका ने अनुमति दी है। नपा सीएमओ सीके मेश्राम ने स्पष्ट किया है कि नगरीय क्षेत्र में पंजीकृत वाहनों से 100 प्रतिशत जरूरी सामग्री सप्लाई होगी, लेकिन दुकानें नहीं खुलेगी। पाथाखेड़ा, शोभापुर, बगडोना में तीन वाहनों से शासन द्वारा निर्धारित दरों पर हरी सब्जियां विक्रय हो रही है। सीएमओ ने कहा जिन किसानों के खेतों में हरी सब्जियां लगी है। विक्रय नहीं कर पा रहे हैं। वे उद्यानिकी विभाग से संपर्क करे।हरी सब्जियां लाने से लेकर विक्रय करने तक संपूर्ण जिम्मेदारी उद्यानिकी विभाग की रहेगी।इधर लॉक डाउन के चलते पूरे शहर की सड़कें सूनी है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है। शहर को जोडऩे वाली सभी सीमाओं पर पुलिस बल तैनात है। जिनके द्वारा आवागमन करने वाले वाहनों की बारीकी से जांच की जा रही है। वहीं नगरपालिका क्षेत्र में जहां पानी की समस्या है। उन वार्डों को पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। जिससे लोगों में आक्रोश पनप रहा है। सबसे ज्यादा पानी की समस्या वार्ड नंबर 36 में हैं। यहां के वाशिंदों ने निजी टैंकरों से भी जलापूर्ति प्रारंभ करने की मांग नपा सीएमओ से की है।
सभी की सहभागिता जरूरी
केंद्र और राज्य सरकार की कोरोना के खिलाफ जंग में सभी की सहभागिता की जरूरत है। जिस महामारी से पूरी दुनिया हार रही है।उस महामारी को हराने आम जनता से सिर्फ घरों में रहकर सहयोग देने की मांग सरकार द्वारा की जा रही है। यह विचार व्यापारी संघ कालीमाई के प्रकाश शिवहरे ने व्यक्त किए हैं। उन्होंने कहा सरकार की कोरोना के खिलाफ जंग में हम सभी व्यापारी साथ है। स्थानीय प्रशासन के सभी निर्देशों का पालन करने के अलावा आम जनता से भी घरों से बाहर नहीं निकलने व्यापारी संघ द्वारा आग्रह किया जा रहा है।
एहतियात के लिए की मार्किंग
वेकोलि की खदानों में कार्य बदस्तूर जारी है। कोरोना के खतरे के बावजूद कोयला उत्पादन चल रहा है। एहतियात के तौर पर खदान प्रबंधन द्वारा हाजिरी कक्ष से लेकर खदान के विभिन्न हिस्सों में जहां कामगार कार्य करते हैं। वहां एक-एक मीटर की दूरी पर मार्किंग कर सभी को सावधानी बरतने जागरूक किया है। पाथाखेड़ा क्षेत्र में छह भूमिगत खदानें हैं। सभी में जरूरी एहतियात बरतने महाप्रबंधक पीके चौधरी द्वारा आग्रह किया है। साथ ही हाथ धुलने पानी व साबुन की व्यवस्था की है। इसके अलावा फेस मास्क भी वितरण किए गए हैं।
पुलिस दे रही समझाइश
कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए लॉक डाउन का पालन कराने को लेकर सारनी एसडीओपी अभयराम चौधरी, टीआई महेन्द्र सिंह चौहान समेत पुलिस स्टॉफ द्वारा आम जनता को समझाइश दी जा रही ै कि लॉक डाउन के दौरान घरों में ही रहे। बाहर नहीं निकले। कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसका कोई इलाज नहीं है। सावधानी ही सुरक्षा है। इसलिए सभी को घरों में रहने की जरूरत है। गुरुवार को शॉपिंग सेंटर में एसडीओ और टीआई ने वाहनों की जांच की। अनिर्वाय रूप मास्क लगाने व जरूरी एहतियात बरतने की अपील की।टीआई ने कहा इस महामारी की रोकथाम के लिए पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया के निर्देशन में पुलिस विभाग पूरी मुस्तैदी से कार्य में जुटा है। जरूरी कार्य सेघर से बाहर जाने वाले अपना परिचय पत्र साथ जरूर रखे। आवश्यक कार्य नहीं हो तो घर में ही रहे। पुलिस सहयोग के लिए सदैव तैयार है।
आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी पर होगी कार्रवाई
पाथाखेड़ा. कोरोना वायरस आपदा के दौरान आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी अथवा संग्रहण कानूनी अपराध है। यह बात टीआई महेंद्र सिंह चौहान ने कही है। चौहान ने कहा कि आपदा की स्थिति में नागरिकों के उपयोग के लिए प्रदाय की जाने वाली अथवा उपयोग में आने वाली वस्तुओं की कालाबाजारी कानूनी अपराध है। कालाबाजारी एवं अवैध संग्रहण करने पर 2 साल तक की सजा का प्रावधान है। इसलिए ऐसा बिल्कुल भी न करें। सूचना मिलने पर एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी।

yashwant janoriya
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned