जमीनी विवाद में बेटे ने पिता की हत्या कर पेड़ से लटकाया शव

पुलिस ने मामले की गुत्थी सुलझाकर आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 30 Jun 2020, 11:01 AM IST

आमला। एक बेटे ने अपने पिता की हत्या इसलिए कर दी कि वह जमीन नहीं दे रहा था। बेटे ने खेत में बोवनी कर दी थी। इस पर पिता नाराज हो गया। पिता और बेटे के बीच झगड़ा हुआ। इसमें बेटे ने अपने ही पिता की हत्या कर दी। घटना छिपाने बेटे ने खेत में ही पेड़ से पिता का शव फंदे पर लटका दिया था। मामला थाना क्षेत्र के ग्राम अमनी का है। पुलिस ने मामले की गुत्थी सुलझाकर आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।

जांच में लिया गया
थाना प्रभारी सुनील लाटा ने बताया कि ग्राम अमनी में 22 जून को परसराम पिता फग्न्या पिपरांज उम्र 70 निवासी ग्राम परसोड़ी का शव जामुन के पेड़ पर गले में रस्सी बांधकर दूसरा सिरा जामुन के पेड़ से बंधा जमीन पर पड़ा मिला था। जांच में प्रथम दृष्टया घटनास्थल संदेहास्पद प्रतीत हो रहा था। सूचनाकर्ता दुर्गा पिपरांज की तरफ से मर्ग कायम कर जांच में लिया गया।

न्यायालय पेश किया गया
24 जून को मार्ग जांच पर से थाना आमला में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध केस दर्ज कर तलाश शुरू की। लाटा ने बताया कि आमला पुलिस द्वारा जांच की गई। पुरानी रंजिश के संदेह पर मृतक के पुत्र कृष्णा कुमार पिपरांज को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई। इसके द्वारा उसके पिता परसराम पिपरांज की हत्या कर शव को रस्सी से जामुन के पेड़ से बांधकर गुमराह किया जाना स्वीकार किया गया। आरोपी कृष्णा को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया है।


ऐसे पकड़ाया आरोपी
पुलिस के मुताबिक जमीन को लेकर पिता-पुत्र में पहले से ही विवाद चल रहा था। इस मामले में पहले रिपोर्ट भी हो चुकी थी। पुलिस ने शंका के आधार पर कृष्णा को हिरासत में लेकर पूछताछ की। कृष्णा ने पूरी घटना बता दी। पुलिस को बताया कि पिता द्वारा जमीन नहीं दी जा रही थी। खुद ही खेती कर रहे थे। मेरे द्वारा खेत में बोवनी कर दी थी। जिस पर पिता ने मारपीट शुरू कर दी।

पुलिस को शंका हुई
दोनों के बीच विवाद में बेटे ने अपने पिता को गिरा दिया और डंडे से मारपीट कर हत्या कर दी। बताया जाता है कि घटना को छिपाने शव को पेड़ से लटका दिया। आरोपी अकेला होने से शव लटका नहीं सका। आरोपी ने रस्सी का एक सिरा पेड़ से बांध दिया। शव जमीन पर ही पड़ा रहा। जिससे पुलिस को शंका हुई।

Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned