टीम करती रही निरीक्षण, मरीजों को तीन घंटे बाद मिला भोजन

टीम करती रही निरीक्षण, मरीजों को तीन घंटे बाद मिला भोजन

Rakesh Kumar Malviya | Publish: Sep, 10 2018 12:19:17 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

अधिकारी मरीजों के लिए भोजन तैयार करवाना ही भूल गए, मरीज के परिजनों को बाहर से लाना पड़ा भोजन

बैतूल. सीआरएम टीम अधिकारियों के निरीक्षण के लिए आने पर पूरा स्वास्थ्य महकमा उनके आवभगत में लग गया। अधिकारी मरीजों के लिए भोजन तैयार करवाना ही भूल गए। टीम के अधिकारी भी अस्पताल में निरीक्षण करते रहे,लेकिन उन्हें पता नहीं चला कि मरीजों के लिए खाना ही नहीं बना है। अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान ही मरीज भोजन के लिए परेशान होते रहे। अस्पताल में भर्ती मरीजों को सुबह 11 बजे की बजाय दोपहर में दो बजे तीन घंटे देरी से भोजन मिल सका। भोजन में देरी को देखते हुए कुछ लोगों ने बाहर से भोजन लाना उचित समझा। जिला अस्पताल में प्रजेंटेशन देखने के बाद डॉ पल्लवी सोनी, मीताक्षी ने मरीज की पर्ची से बनने से लेकर मरीजों के स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था देखी। डॉ राहुल श्रीवास्त ने पूरी व्यवस्था को देखा। मरीज ने शुगर की दवा ली या नहीं इसके फॉलोअप को लेकर जानकारी ली। एनसीडी की क्लिनिक की व्यवस्था देखकर संतोष जाहिर किया। डॉ. श्रीनिवास द्वारा केंसर वार्ड, स्वाइन फ्लू वार्ड, डायलेसिस कक्ष, सोनोग्राफी कक्ष का निरीक्षण किया। सोनोग्राफी की रिपोर्ट को लेकर पूछा,कितने देर रिपोर्ट मिलती है। मरीज को परेशान तो नहीं होना पड़ता है। मनकक्ष का निरीक्षण कर स्टाफ नर्स से मनकक्ष में मरीजों के भरे जाने वाले फॉर्म का अवलोकन किया। बायोमेडिकल वेस्ट की व्यवस्था देखी। एनआरसी में भर्ती होने वाले बच्चों को डाइट के संबंध पूछा और कहा कि समय से बच्चों को डाइट दी जाए। भारत सरकार की सीआरएम टीम डॉ. सुमनलता वट्टल के प्रतिनिधित्व में डॉ पीके श्रीनिवास, डॉ. रविप्रकाश,मिताक्षी के साथ बैतूल एवं शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भग्गूढाना बैतूल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सीएमएचओ डॉ प्रदीप मोजेस,सीएस डॉ अशोक बारंगा, भोपाल के अधिकारी और जिला अस्पताल के डॉक्टर उपस्थित रहे।

कार्यकर्ता ने नहीं बताया मोतियाबिंद है
डॉ पीके श्रीनिवास द्वारा जिला चिकित्सालय के नेत्र वार्ड का निरीक्षण किया गया, भर्ती मरीजों नाथूराम रावसे, निवासी गंज बैतूल एवं फग्गी उईके उम्र 70 वर्ष निवासी लक्कडज़ाम भीमपुर से चर्चा की। फग्गी से पूछा आंख में मोतियाबिंद हो गया है यह किसने बताया। गांव में स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने बताया था क्या। जिस पर फग्गी ने कहा कि गांव में उसे किसी ने जानकारी नहीं दी। वह स्वयं ही जिला अस्पताल आया था। जिस पर डॉक्टर ने मोतियांबिद होने की बात कही।

ओझाढाना में कुपोषित मिला बच्चा
सीआरएम टीम ने रविवार सुबह शहर के ओझाढाना का निरीक्षण किया। यहां पर टीम को एक बच्चा कुपोषित मिला। निरीक्षण के दौरान टीम में शामिल अधिकारी मीताक्षी ने इसको लेकर सवाल किए। मीताक्षी का कहना था कि यहां कोई स्वास्थ्य कार्यकर्ता नहीं पहुंचता है क्या है। जिला अस्पताल में एनआरसी होने के बावजूद बच्चे को भर्ती नहीं किया गया। वर्तमान मेंं महिला गभर्वती है। डॉ राहुल श्रीवास्तव ने स्थिति को संभालते हुए। इस संबंध में अलग से चर्चा करने की बात कही।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned