मोरंड नदी में बहे युवक का शव दो किमी दूर मिला

सोमवार शाम को थाना क्षेत्र के चिचोली चूडिय़ा मार्ग पर मोरंड नदी की पुलिया से बहे आदिवासी युवक की पहचान हो गई है। मृतक आलमगढ़ का निवासी था। जिसकी पहचान ४० वर्षीय राधे पिता छन्नू के रूप में की गई है.। आसपास के ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने पुलिया से कुछ ही दूरी पर उसकी मोटरसाइकिल और लगभग दो किलोमीटर दूर मृतक का शव बरामद किया है ।

By: Devendra Karande

Published: 17 Jun 2020, 05:04 AM IST

चिचोली। सोमवार शाम को थाना क्षेत्र के चिचोली चूडिय़ा मार्ग पर मोरंड नदी की पुलिया से बहे आदिवासी युवक की पहचान हो गई है। मृतक आलमगढ़ का निवासी था। जिसकी पहचान ४० वर्षीय राधे पिता छन्नू के रूप में की गई है.। आसपास के ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने पुलिया से कुछ ही दूरी पर उसकी मोटरसाइकिल और लगभग दो किलोमीटर दूर मृतक का शव बरामद किया है । जानकारी के मुताबिक आलमगढ़ निवासी राधे पिता छन्नू वटके चूडिय़ा के पास जामुनढाना में एक शादी में शामिल होने के बाद रात आठ बजे अपने गांव आलमगढ़ लौट रहा था। चूडिय़ा के पास की मोरंड नदी में पुल के ऊपर से पानी होने के बावजूद भी युवक ने पुल पार करने का प्रयास किया और वह मोटरसाइकिल सहित बह गया। मोटर साईकिल मे उसके साथ सुखराम मर्सकोले मोटर साईकिल पर सवार था, लेकिन नदी के तेज बहाव के कारण वह मोटर से नीचे उतर गया था। प्रत्यक्षदर्शियों ने उसे रोका लेकिन वह नहीं माना।चिचोली तहसीलदार लवीना घागरे एवं थाना प्रभारी दीपक पराशर रात को ही घटनास्थल पर पहुंच गए थे, लेकिन नदी में पानी अधिक होने और अंधेरा होने के कारण खोज बीन का कार्य नहीं हो सका। टीआई दीपक पाराशर ने बताया कि मंगलवार सुबह मृतक की मोटरसाइकिल पुलिया से कुछ ही दूरी पर पड़ी मिली। इसके बाद नदी के किनारे परिजनों की मदद से युवक की तलाश की गई। मोरंड नदी के पुल से दो किलो किलोमीटर दूर मेलघाट के पास पर मृतक का शव बरामद हुआ है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है । चिचोली चूडिय़ां मार्ग पर मोरन नदी के ऊपर बने रपटे ने बाढ़ के कारण कई घटना हो चुकी है।इससे पहले भी 5 लोग इस नदी में बहाकर अपनी जान गवां चुके हैं।ग्रामीणों ने मोरंड नदी पर पुल बनाने की मांग की है ।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned