चार दिन से भूखा था युवक, परिजन ठीक होने के लिए कर रहे थे पूजा-पाठ, आ गई मौत....

कोरोना की जांच के लिए लिया गया सैंपल, चिकिन पाक्स से पीडि़त था युवक

पाथाखेड़ा. 19 वर्षीय युवक एक सप्ताह से बीमार था। उसने खाना-पीना छोड़ रखा था। पानी पीते ही उल्टियां हो जाती थी। परिजन उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाने की जगह घर में ही उसके ठीक होने के लिए पूजा-पाठ करते रहे। आखिर चार दिन भूखे-प्यासे रहने के बाद युवक ने दम तोड़ दिया। उसकी मौत की खबर मिलने के बाद पुलिस एवं प्रशासन का अमला हरकत में आया। स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी गई। युवक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया और उसके सुआब का सैंपल लेकर कोरोना की जांच के लिए भेजा गया है।
पीएम रिपोर्ट से होगा खुलासा
पाथाखेड़ा के शास्त्रीनगर निवासी 19 वर्षीय विक्की रघुवंशी पिछले एक सप्ताह से बीमार था। उसने पिछले चार दिन से खाना भी नहीं खाया था। बुधवार को उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद उसकी मौत के पीछे तीन कारण होने का संदेह जताया जा रहा है। परिजनों के अनुसार उसे चिकिन पाक्स था। उसने चार दिन से खाना-पीना छोड़ दिया था। इस कारण चिकित्सकों को उसके भूख से या फिर बीमारी से मौत होने की आशंका है। हालांकि कोरोना वायरस के चलते उसकी भी जांच कराई जा रही है। कोरोना से मौत होने के संदेह पर पूरे घर और मोहल्ले में सेनेटाइज किया गया। अधिकारी भी इसी वजह से खुद वहां पड़ताल करने पहुंचे।

भाई भी बीमार, पूजा-पाठ से कर रहे थे उपचार
मृतक का छोटा भाई विकास रघुवंशी भी चिकन पॉक्स से पीडि़त है। घरवाले बीमारी का उपचार कराने के बजाए अंधविश्वास के चलते पूजा पाठ में लगे हुए थे। मृत विक्की अपने छोटे भाई विकास और मां के साथ रहता था। पिता महेंद्र सिंह रघुवंशी इंदौर में है। बेटे की मौत के बाद पिता को अनुमति लेने के बाद घर लाया जा रहा है। क्षेत्र के लोगों का कहना है कि मोहल्ले में इसके पहले भी लगभग 6 से अधिक लोग चिकन पॉक्स से पीडि़त थे, जो कि स्वस्थ हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग टीम और थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान, पाथाखेड़ा चौकी प्रभारी नितिन पाल मौके पर पहुंच गए थे।
इनका कहना है....
&युवक की चिकन पॉक्स (बड़ी माता निकलने) से मौत की आशंका है। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचकर शव को घोड़ाडोंगरी अस्पताल पहुंचाया है। मौत की असली वजह पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगी।
अभय चौधरी, एसडीओपी सारनी
&युवक को चिकन पॉक्स था। पिछले 4 दिनों से युवक ने भोजन नहीं किया था। चिकन पॉक्स से मौत की आशंका है। कोरोना जांच के लिए भी सैंपल लिए हंैं। पीएम रिपोर्ट में मौत के कारणों पुख्ता पता चल सकेगा। मृतक का छोटा भाई विकास भी चिकन पॉक्स से पीडि़त है। उसे उपचार के लिए घोड़ाडोंगरी अस्पताल ले जाया गया है।
डॉ. पुरुषोत्तम सरेयाम, घोड़ाडोंगरी

कोरोना वायरस
Show More
बृजेश चौकसे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned