बीमारी से परेशान नर्सिग की छात्रा ने लगाई फांसी

दो माह से बीमारी से परेशान एक नर्सिग की छात्रा ने सोमवार को अपने ही घर में चुनरी से फांसी का फंदा बनाकर फांसी पर लटकर आत्महत्या कर ली। छात्रा ने आत्हत्या करने के पहले सुसाइट नोट भी लिखा है, जिसमें लिखा की मै टीना प्रजापति अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रही हूं, इसका किसी का दोष न दिया जाए।

By: ghanshyam rathor

Published: 16 Mar 2020, 09:21 PM IST


बैतूल। दो माह से बीमारी से परेशान एक नर्सिग की छात्रा ने सोमवार को अपने ही घर में चुनरी से फांसी का फंदा बनाकर फांसी पर लटकर आत्महत्या कर ली। छात्रा ने आत्हत्या करने के पहले सुसाइट नोट भी लिखा है, जिसमें लिखा की मै टीना प्रजापति अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रही हूं, इसका किसी का दोष न दिया जाए। छात्रा द्वारा फांसी लगाए जाने की सूचना मिलते ही गंज पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को फांसी के फंदे से उतारकर पीएम कराने के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। गंज थाने की एसआई कविता नागवंशी ने बताया कि कत्लढाना खंजनपुर निवासी २१ वर्षीय टीना उर्फ अर्चना पिता दिनेश प्रजापति का परिवार के सदस्य सोमवार को खेत गए थे, उस दौरान टीना घर में अकेली थी। परिजन दोपहर २ बजे घर वापस आए तो देखा की टीना फांसी के फंदे पर लटकी हुई है। परिजनों ने तुरंत ही पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस से टीना के पास से सुसाइट नोट मिला है। जिसमें उसने अपनी मौत के लिए खुद को जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने टीना के शव का पीएम करा कर परिजनों को सौंप दिया है।
दो दिन बाद आरंभ होनी है परीक्षा
परिजनों ने बताया कि टीना प्रायवेट कॉलेज में नर्सिग की पढ़ाई कर रही थी। दो दिन बाद में टीना की परीक्षाएं आरंभ होने वाली थी। बताया जा रहा है कि टीना पिछले कुछ माह से से बीमारी चल रही थी, जिसका भोपाल में इलाज चल रहा था। बीमारी के कारण परेशान हो गई थी, जिसके चलते फांसी लगाकर आत्महत्या करने की बात कही जा रही है।

नाले में डूबने से मासूम की मौत
शाहपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत मोखामाल के ग्राम छितरीबड़ में डेढ़ वर्षीय मासूम की नाले में डूबने से मौत हो गई। पिता की शिकायत पर पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम करा परिजनों को सौप दिया है। पुलिस ने बताया कि सुबह 9 बजे रविता बाई गेंहू की कटाई करने खेत पर गई थी , जिसने अपने साथ डेढ़ वर्षीय बेटी महक को भी ले गई थी। काम करने के दौरान बच्ची कब नाले की और चली गई, इसका पता ही नहीं चला। थोड़ी देर बाद बच्ची नहीं दिखी तो ढूँढना शुरू किया।मासूम के पिता सुनंदन धुर्वे ने बताया की उसे 10 बजे पत्नी का फोन पर बताया कि बेटी नहीं मिल रही है। थोड़ी दुरी पर नाले में जा कर देखा तो बच्ची पानी में डूबी मिली। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम करा कर परिजनों को सौप दिया।

ghanshyam rathor Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned