जुड़वा बच्चियां कुपोषित मिलने पर एनआरसी में कराया भर्ती

आठनेर के ग्राम हिवरा में जुड़ा बच्चियों का नया आशियाना बैतूल एनआरसी केंद्र बन गया है। चाइल्ड लाइन प्रदीपन संस्था द्वारा दोनों बच्चियों को कुपोषण पाए जाने पर १४ दिनों के लिए एनआरसी में भर्ती कराया गया है। वहीं बच्चियों की मां के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराए जाने की बात कहीं जा रही है।

By: Devendra Karande

Published: 24 Jul 2020, 04:02 AM IST

बैतूल। आठनेर के ग्राम हिवरा में जुड़ा बच्चियों का नया आशियाना बैतूल एनआरसी केंद्र बन गया है। चाइल्ड लाइन प्रदीपन संस्था द्वारा दोनों बच्चियों को कुपोषण पाए जाने पर १४ दिनों के लिए एनआरसी में भर्ती कराया गया है। वहीं बच्चियों की मां के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराए जाने की बात कहीं जा रही है। बताया गया कि ग्राम हिवरा की बच्चियों की मां उन्हें छोड़कर अपने प्रेमी के पास चली गई है। जबकि बच्चियों का पिता एक मामले में जेल में सजा काट रहा है। जिसके कारण दोनों बच्चियां अनाथ हो गई थी। मामले की जानकारी मिलने के बाद चाइल्ड लाइन प्रदीपन बैतूल की बाल कल्याण समिति के कोऑडिनेटर सुनील कुमार एवं काउंसलर चारू वर्मा ने गांव पहुंचकर बच्चियों की स्थिति का जायजा लिया।
जुड़वा बालिकाओं के घर होम विजिट के दौरान चारू वर्मा द्वारा दादी जमुनी धुर्वे की काउंसलिंग की गई। तब उन्होंने बताया की जुड़वा बालिकाओं की माता का पहले से किसी के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था और वहां तीन माह की दोनों बालिकाओं को छोड़कर गांव के एक लड़के के घर 15 दिन से रह रही थी। उसके बाद गांव से कहां गई, हमें पता नहीं। दोनों बच्चियों का ध्यान दादी के द्वारा रखा जा रहा था। वर्तमान में दोनों बालिकाएं कुपोषित पाई गई तब चाइल्ड लाइन बैतूल ने तत्काल दोनों बालिकाओं का पंचनामा तैयार कर जिला हॉस्पिटल लाया। दोनों बालिकाओं का डॉक्टर गोरे से चिकित्सीय जांच करवा कर एनआरसी में भर्ती कराया गया। बालिकाओं को 14 दिन एनआरसी में भर्ती रखा जाएगा। वहीं चाइल्ड लाइन के कोऑडिनेटर सुनील ने बताया कि बच्चियों को छोड़कर भाग जाने के मामले में मां के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएंगी।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned