scriptvaccine dose being wasted every day | बर्बाद हो रहे डोज से हो सकती है वैक्सीन की किल्लत | Patrika News

बर्बाद हो रहे डोज से हो सकती है वैक्सीन की किल्लत

दो महीनों में महज 50 फीसदी बच्चों को ही वैक्सीन लगी

बेतुल

Published: April 22, 2022 01:02:30 am

बैतूल. देश में कोरोना की चौथी लहर को लेकर आशंका जताई जा रही है लेकिन जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों का वैक्सीनेशन अभी तक पूरा नहीं हो सका है। विगत दो महीनों में महज 50 फीसदी बच्चों को ही वैक्सीन लगाया गया है। जबकि आधे बच्चें अभी भी वैक्सीनेशन से वंचित है। बच्चों के कम संख्या में वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचने के कारण वैक्सीन की बर्बाद भी सामने आ रही है। स्वास्थ्य विभाग के टीकाकरण शाखा के मुताबिक कोर्बेवैक्स और कोवैक्सीन का सात से आठ फीसदी डोज प्रतिदिन बर्बाद हो रहा है। ऐसे में आने वाले समय में वैक्सीन की किल्लत का सामना भी करना पड़ सकता है। बताया गया कि कुछ स्कूलों में कैंप लगाकर बच्चों का वैक्सीनेशन किया गया था लेकिन परीक्षा के चलते बीच में ही कैंप बंद करना पड़े। वैक्सीनेशन के लिए पुन: स्कूलों में कैंप नहीं लगाए गए हैं। १२ से १४ आयु वर्ग के स्कूली बच्चों को कोर्बेवैक्स वैक्सीन लगाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक कोर्बेवैक्स वैक्सीन १० एमएल की आती है जिसमेंं तकरीबन 20 डोज आते हैं। प्रत्येक बच्चे को 0.5 एमएल डोज दिया जाता है, लेकिन दिन भर में सिर्फ 12 से 13 डोज ही लग पाते हैं जबकि शेष डोज बर्बाद हो जाते हैं। यही स्थिति को वैक्सीन के साथ है। कोवैक्सीन में भी 7 प्रतिशत तक डोज बर्बाद हो रहे हैं, क्योंकि यह वैक्सीन 14 से 17 आयु वर्ग के बच्चों को भी लगाई जा रही है। वैक्सीन के बर्बाद होने का कारण लोगों द्वारा समय पर पहुंचकर वैक्सीनेशन नहीं करना बताया जा रहा है। जिसके कारण वैक्सीन की बर्बाद काफी ज्यादा हो रही है। यदि यही हाल रहा तो आने वाले दिनों में वैक्सीन की किल्लत का सामना भी करना पड़ सकता है।
64 हजार को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य
जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के 64 हजार 580 बच्चों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है, लेकिन अभी तक 32 हजार 343 बच्चों को ही वैक्सीन लगाया जा सका। सबसे कम वैक्सीनेशन भैंसदेही और शाहपुर ब्लॉक में 33फीसदी हुआ है। इसे अलावा आमला, प्रभातपट्टन और मुलताई ब्लॉक में भी वैक्सीनेशन 41 से 46 प्रतिशत के बीच होना बताया जाता है। बैतूल शहरी क्षेत्र की बात करें तो यहां 4 हजार 537 बच्चों में से 2 हजार 79 बच्चों को प्रथम डोज वैक्सीन का लगाया जा चुका है। वहीं बैतूल ग्रामीण में 4 हजार 537 बच्चों में से 3 हजार 512 बच्चों को वैक्सीन लगाया गया।
इनका कहना है
बच्चों का वैक्सीनेशन कराए जाने के लिए स्कूलों को तय करना है। यदि स्कूल चाहते हैं कि कैंप लगाकर वैक्सीनेशन किया जाए तो टीम भेजी जाएगी। चूंकि बच्चे कम संख्या में वैक्सीन लगाने सेंटर पर आ रहे हैं। इससे कोर्बेवैक्स वैक्सीन का वेस्टेज ज्यादा हो रहा है।
डॉ. अरङ्क्षवद भट्ट, जिला टीकाकरण अधिकारी
दो महीनों में महज 50 फीसदी बच्चों को ही वैक्सीन लगी
दो महीनों में महज 50 फीसदी बच्चों को ही वैक्सीन लगी
परीक्षा चलने से पिछड़ा वैक्सीनेशन
जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों के वैक्सीनेशन के पिछडऩे का कारण परीक्षाओं का संचालित होना बताया जा रहा है। मार्च माह में वैक्सीनेशन की शुरूआत की गई थी उस समय बोर्ड परीक्षाओं के साथ ही अन्य परीक्षाएं भी संचालित की जा रही थी। जिसके कारण बहुत कम संख्या में बच्चों ने वैक्सीनेशन कराया। वहीं वर्तमान में स्कूल संचालित हो रहे है लेकिन अभी तक वैक्सीनेशन के लिए स्कूलों में विशेष शिविर नहीं लगाए गए हैं। हालांकि वैक्सीनेशन के लिए अन्य जगहों पर केंद्र बनाए गए हैं जहां बच्चे जाकर वैक्सीन लगा सकते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में बच्चें वैक्सीन लगाने नहीं पहुंच रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंIPL 2022 RCB vs GT live Updates: पावर प्ले में गुजरात 2 विकेट के नुकसान पर 38 रनों पर6 साल की बच्ची बनी AIIMS की सबसे कम उम्र की ऑर्गन डोनर; 5 लोगों को दिया नया जीवनGyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.