अब नहीं होगी थाने में मनमानी, लापरवाह पुलिसकर्मीयों को सुधारने के लिए हुआ बड़ा काम

 अब नहीं होगी थाने में मनमानी, लापरवाह पुलिसकर्मीयों को सुधारने के लिए हुआ बड़ा काम
police station

पुलिस से शिकायत करने वाले फरियादियों को मिलने लगी रसीद 

भदोही. उत्तर प्रदेश में तमाम ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमें शिकायत के बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती और शिकायती पत्र न मिलने का बहाना बना कर मुकर जाती है लेकिन अब इस तरह की लापरवाही पर लगाम लगाने की शुरूआत भदोही जनपद से हुई है। पुलिस अधीक्षक के निर्देशों के बाद अब शिकायत करने वालों को पुलिस द्वारा एक रसीद दिया जायेगा जिस पर शिकायत के साथ विपक्षीगणों के नाम के साथ एक क्रमांक भी अंकित रहेगा। ताकि यह जानकारी करने में आसानी रहे कि कितनी बार शिकायत हुई और उस पर क्या कार्रवाई की गयी। माना जा रहा है कि इससे शिकायतों के निस्तारण में तेजी आयेगी।  

शासन द्वारा जन सुनवाई को लेकर कई जिलों के अधिकारियो को कड़ी फटकार लगी है और कई की कुर्सी खतरे में है ऐसे में अब आलाधिकारी सिस्टम को और भी  मजबूत करने में जुट गए है। भदोही में कुछ ऐसा ही प्रयास पुलिस महकमे में देखने को मिल रहा है। पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने जन सुनवाई में शिकायतों के निस्तारण में तेजी लेने के लिए बड़े फेरबदल किये है। अब फरियादियो को पीली पर्ची दी जा रही है इस पर्ची के मिलने से शिकायतकर्ता के पास शिकायत का साक्ष्य होगा और साथ ही पीली पर्ची में जाँच अधिकारी से लेकर तमाम जानकारियां भी होगी। 

देखें वीडियो....







ऐसी ही एक पीली पर्ची नोटिस के साथ आरोपी को भी भेजी जाएगी जिससे वह अपना पक्ष जाँच अधिकारी के समक्ष रखे। तीसरी पर्ची आफिस में रहेगी। जाँच अधिकारीयो को निर्देशित किया जा रहा है की वह घटनास्थल पर जाकर जाँच करे। इस व्यवस्था से शिकायतकर्ता अपनी पर्ची पर अंकित नंबर के जरिये अपने मामले का स्टेटस पता कर सकता है और उच्चाधिकारी बेहतर तरीके से निगरानी कर सकेंगे। इस व्यवस्था की शुरुवात अभी एसपी दफ्तर से की गयी है जल्द ही जिले के सभी थानों में इसे लागू किया जायेगा। 



इस व्यवस्था के लागू होने से फरियादियो में ख़ुशी है फरियादियो का कहना है की अब अगर उसकी समस्या का निस्तारण समय से नहीं हुआ तो वह इस पर्ची के माध्यम से जाँच अधिकारियो तक की शिकायत कर सकेंगे साथ ही उनके पास अब शिकायत का सबूत होगा। लोगो की मांग है की इस व्यवस्था को पूरे प्रदेश में लागू करना चाहिए इससे शिकायतों के निस्तारण में तेजी आएगी। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned