बाहुबली विजय मिश्रा के बाद अब एमएलसी पत्नी व बेटे पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

विजय मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने के बाद सीजेएम कोर्ट ने उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। उनके बेटे विष्णु मिश्रा की अग्रिम जमानत याचिका भी कोर्ट से खारिज हो गई है। पुलिस अब दोनों की गिरफ्तारी में जुट गई है।

भदोही. बाहुबली विजय मिश्रा की गिरफ्तारी और जेल भेजे जाने के बाद अब उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा और बेटे विष्णु मिश्रा पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। एक तरफ कोर्ट ने बेटे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी तो दूसरी ओर भदोही की सीजेएम कोर्ट ने एमएलसी रामलली मिश्रा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। अब तक पुलिस के शिकंजे से बचते चले आ रहे विधायक विजय मिश्रा रिश्तेदार द्वारा मकान और फर्म पर कब्जा करने का मुकदमा दर्ज कराने के बाद मध्य प्रदेश से गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं। इसी मुकदमे में उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा व बेटे विष्णु मिश्रा का भी नाम है और पुलिस लगातार दोनों की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है।

इसे भी पढ़ें- अमित शाह ने कहा था जेल में होगी बाहुबली विजय मिश्रा की जगह

गिरफ्तारी के बाद शुरू हुई विजय मिश्रा पर कार्रवाई

विधायक विजय मिश्रा को गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई सरकारी जमीन कब्जा करने के मामले में तहसीलदार की कोर्ट ने पांच लाख से अधिक का जुर्माना लगाते हुए जमीन से बेदखल करने का आदेश सुना दिया। उसके पहले उनके रिश्तेदार पर अनुमति से अधिक बालू डंपिंग को लेकर उनका डंप किया बालू सीज कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें- बाहुबली विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई सरकारी जमीन कब्जाने पर लाखों का जुर्माना, जमीन से बेदखल करने का आदेश

बेटी का आरोप सत्ता के दबाव में हो रही कार्रवाई

गिरफ्तारी से लेकर जेल जाने तक विजय मिश्रा ने अपने खिलाफ की जा रही कार्रवाई के लिये विरोधियों और सत्ता की मिली भगत का आरोप लगा चुके हैं। पेशे से वकील उनकी बेटी रीमा मिश्रा का भी यही आरोप है कि उनके पिता और परिवार पर सत्ता और शासन के दबाव में प्रशासन नियम कानून को ताक पर रखकर कार्रवाई कर रहा है।


इसे भी पढ़ें-
बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के बेटे विष्णु मिश्रा की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

रिश्तेदार की एफआईआर से मुश्किल में विजय मिश्रा परिवार

बाहुबली विजय मिश्रा गोपीगंज के धनापुर के जिस मकान में रहते हैं उसे अपना बताते हुए उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने विधायक द्वारा कब्जा कर रहने और फर्म पर भी कब्जा करने का आरोप लगाते हुए गोपीगंज थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया। इसमें विजय मिश्रा के अलावा उनकी पत्नी रामलली मिश्रा व बेटे विष्णु मिश्रा का भी नाम है। विधायक को पुलिस ने मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले से गिरफ्तार किया। कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें चित्रकूट भेज दिया गया है। इस बीच रामलली मिश्रा भी इलाहाबाद से लापता हो गईं। जबकि बेटे विष्णु मिश्रा ने गिरफ्तारी से बचने के लिये कोर्ट का सहारा लिया। पिता को जेल भेजने के बाद पुलिस पुलिस पत्नी और बेटे की गिरफ्तारी की कवायद में जुट गई।

By Mahesh Jaiswal

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned