सपा- बसपा गठबंधन के बाद मायावती के हिस्से में आ सकती है यह सीट, दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री का टिकट तय !

2009 में भदोही सीट गठित होने के बाद यहां से बसपा ने जीत दर्ज की थी और गोरखनाथ पांडेय सांसद चुने गए थे, जबकि 2014 में बीजेपी ने इस सीट पर कब्जा किया

By: Akhilesh Tripathi

Updated: 07 Jan 2019, 04:56 PM IST

भदोही. आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सूबे में सपा-बसपा के गठबंधन पर मायावती और अखिलेश के बीच हुई बैठक के बाद सीट बंटवारे की संख्या को लेकर सामने आई खबर के बाद इस बात की कयासबाजी का दौर शुरु हो गया है कि कौन सी सीट किस खाते में जाएगी। कुछ इसी तरह की कयासबाजी भदोही सीट को भी लेकर लगाया जा रहा है। इस सीट पर बसपा की मजबूत स्थिति देखने को मिल रही है और माना जा रहा है कि अगर यह सीट बसपा के खाते में गयी तो पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा प्रत्याशी बनाये जा सकते हैं।

भदोही लोकसभा सीट के गठन 2009 में हुआ, इसके पहले यह क्षेत्र मिर्जापुर लोकसभा में आता था। 2009 में भदोही सीट गठित होने के बाद यहां से बसपा ने जीत दर्ज की थी और गोरखनाथ पांडेय सांसद चुने गए थे। जबकि 2014 में भाजपा ने भारी अंतर से जीत दर्ज की और वीरेंद्र सिंह मस्त सांसद बने। इस चुनाव में भी बसपा दूसरे स्थान पर रही।

2017 के विधानसभा चुनाव में भदोही लोकसभा सीट अंतर्गत के आने वाले पांच विधानसभा सीटों में दो पर बसपा ने अपना झंडा बुलंद किया जबकि दो पर भाजपा और एक अन्य के खाते में गयी। इन आंकड़ों पर गौर किया जाय तो वर्तमान में बसपा इस सीट पर सपा से मजबूत दिखाई पड़ रही है। इसके साथ ही यह कयास लगाया जा रहा है कि अगर यह सीट बसपा की झोली में गयी तो पूर्व मंत्री रंगनाथ मिश्रा बसपा के लिए एक मजबूत प्रत्याशी हो सकते हैं। हालांकि अभी क्षेत्र में रंगनाथ मिश्रा के आलावा दूसरा कोई नाम टिकट दावेदार के तौर पर सामने नही आया है।

यह अलग बात है कि कोई नाम अंदरखाने में चल रहा हो। रंगनाथ मिश्रा बसपा के सरकार में माध्यमिक शिक्षा मंत्री थे। 2009 में लोकसभा चुनाव में गोरखनाथ पांडेय को भाजपा से बसपा में शामिल कराने और लोकसभा टिकट दिलाने में रंगनाथ की अहम भूमिका थी। रंगनाथ की ब्राह्मण मतदाताओं में अच्छी पकड़ भी है। भदोही लोकसभा ब्राह्मण और बिंद बाहुल्य क्षेत्र माना जाता है। ऐसे मे यह कयास लगाए जा रहे हैं कि बसपा के खाते में यह सीट जाने के बाद रंगनाथ मिश्र प्रत्याशी के तौर पर सामने आ सकते हैं।

BY- MAHESH JAISWAL

Show More
Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned