जीआरपी के सामने शोहदों ने महिला को बेरहमी से पीटा

 जीआरपी के सामने शोहदों ने महिला को बेरहमी से पीटा
Gyanpur Railway Station

विंध्याचल से पूजा कर राजस्थान के अलवर लौट रहा था परिवार

भदोही. ज्ञानपुर रोड रेलवे स्टेशन पर दिनदहाड़े प्लेटफार्म नंबर दो पर दो महिला यात्रियों से मनचलों ने मारपीट की और उन्हें खींचकर प्लेटफार्म के बाहर ले गए। जब महिलाओं ने विरोध किया तो दोनों युवकों ने महिलाओं की लाठियों से पिटाई कर दी। गंभीर हालत में घायल महिलाओं का अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना के समय जीआरपी के जवान वहां मौजूद थे लेकिन उन्होंने महिलाओं को बचाने का प्रयास तक नहीं किया। आरोपी महिला का कहना है कि आरोपी युवक सिगरेट पीने का पैसे मांग रहे थे और पैसे नहीं देने पर आरोपियों ने इस गम्भीर घटना को अंजाम दिया।



दरअसल राजस्थान के अलवर की रहनी वाली प्रिया अपने परिजनों के साथ विध्याचल दर्शन करने आयी थी। इलाहबाद जाने के लिए वह ज्ञानपुर रोड रेलवे स्टेशन आयी और प्लेटफार्म नंबर दो पर अपनी गाडी का इन्तजार कर रही थी। आरोप है कि तभी दो युवक आये और उससे सिगरेट पीने के लिए बीस रूपये मांगने लगे। महिला ने उन्हें वहां से जाने को कहा इसके बाद दोनों युवक महिलाओ से छेड़छाड़ करने लगे तो प्रिया ने उनका विरोध किया और एक थप्पड़ युवक को मार दिया उसके बाद दोनों युवक उन्हें जबरन प्लेटफार्म से बाहर खींचकर ले जाने लगे उसी समय पीड़ित की नजर ड्यूटी पर तैनात जीआरपी के दो जवानो पर पड़ी तो उसने उन्हें मदद के लिए आवाज दी लेकिन जवानो ने पीड़ितों की मदद नहीं की और मनचले दोनों महिलाओ को खींचकर प्लेटफार्म  के बाहर ले गए पीड़ित और उसके पति के विरोध करने पर दोनों युवको ने लाठियों से पिटाई की। दोनों महिलाओं को गंभीर चोट आयी है, जिन्हें सीएचसी में भर्ती कराया गया जहां एक महिला की हालत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के गढ़ में सीएम योगी के राज में बदमाश ऐसे चला रहे गोली, देखे वीडियो



एक महिला के सर पर गंभीर चोट आयी है जबकि दूसरी महिला दो घंटे तक बेहोश रही है। जिस वक्त यह घटना हो रही थी तब स्टेशन पर बड़ी संख्या में भीड़ थी लेकिन सब तमाशबीन बने रहे किसी ने आगे बढ़कर महिलाओ की मदद नहीं की और तो और जीआरपी के जवान जिनके ऊपर स्टेशन की सुरक्षा की जिम्मेदारी थी वह भी महिलाओं को बचाने नहीं गए।



पीड़ित महिला के मुताबिक वह जीआरपी के दो जवानों को देखकर चिल्लाती रही लेकिन दोनों जवान उसे बचाने नहीं आये। इससे साफ़ है की जीआरपी के जवानों ने कितनी बड़ी लापरवाही बरती है। पीड़ित आधा घण्टा तक खून से लथपथ पड़े रहे लेकिन उनकी सुध लेने कोई नहीं गया स्थानीय लोगों की सूचना पर एबुलेंस आयी है। जब इस बाबत जीआरपी के एसपी और चौकी इंचार्ज को फोन किया गया तो उनके भी फोन नहीं उठे। गोपीगंज थाना की पुलिस अस्पताल पहुंची लेकिन कोई भी जीआरपी का अधिकारी नहीं आया। ड्यूटी पर तैनात जीआरपी के जवानो से पूछा गया तो घटना स्थल से दूर होना बता रहे है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned