Bharatpur News: दसवीं फेल विद्यार्थी भी कर सकते हैं सीधे 12वीं पढ़ाई!

Bharatpur News: दसवीं फेल विद्यार्थी भी कर सकते हैं सीधे 12वीं पढ़ाई!

Shyamveer Singh | Publish: Apr, 21 2019 10:07:07 PM (IST) | Updated: Apr, 21 2019 10:07:08 PM (IST) Bharatpur, Bharatpur, Rajasthan, India

भरतपुर. यदि कोई विद्यार्थी 10वीं कक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया है और आगे की पढ़ाई रुक गई है तो मायूस होने की जरूरत नहीं। क्योंकि ऐसे दसवीं फेल विद्यार्थियों के लिए वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय (वीएमओयू) के तीन पाठ्यक्रम (बीएपी, बीसीपी व बीएससीपी) सीधे 12वीं की पढ़ाई करने का मौका दे रहे हैं।

भरतपुर. यदि कोई विद्यार्थी 10वीं कक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया है और आगे की पढ़ाई रुक गई है तो मायूस होने की जरूरत नहीं। क्योंकि ऐसे दसवीं फेल विद्यार्थियों के लिए वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय (वीएमओयू) के तीन पाठ्यक्रम (बीएपी, बीसीपी व बीएससीपी) सीधे 12वीं की पढ़ाई करने का मौका दे रहे हैं। दसवीं या 12वीं फेल विद्यार्थी इस पाठ्यक्रम के लिए एप्लाई कर सकते हैं और इस एक वर्षीय पाठ्यक्रम में उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं उत्तीर्ण के समकक्ष मान्यता प्रदान करेगा।

 


ये हैं तीन पाठ्यक्रम
वीएमओयू की ओर से बैचलर ऑफ आटर््स प्रिपरेशन प्रोग्राम(बीएपी), बैचलर ऑफ कॉमर्स प्रिपरेशन प्रोग्राम(बीसीपी) व बैचलर ऑफ साइंस प्रिपरेशन प्रोग्राम(बीएससीपी) तीन पाठ्यक्रम संचालित हैं। तीनों पाठ्यक्रमों में आवेदन करने के लिए कम से कम 18 वर्ष की आयु होना जरूरी है। इसके लिए आवेदक को आयु का घोषणा पत्र, स्थानीय निकाय द्वारा जारी जन्म प्रमाण पत्र की छाया प्रति, राजकीय विद्यालयों का स्थानांतरण प्रमाण पत्र या बोर्ड की दसवीं की अंकतालिका/प्रमाण पत्र की प्रमाणित छाया प्रति लगानी होगी। पाठ्यक्रमों में दसवीं व 12वीं फेल विद्यार्थी भी आवेदन कर सकते हैं। इस पाठ्यक्रम की अवधि एक वर्ष से डेढ़ वर्ष तक और फीस 1600 रुपए रखी गई है।

 

 

उत्तीर्ण होने पर कर सकते हैं स्नातक की पढ़ाई
बीएपी, बीसीपी व बीएससीपी पाठ्यक्रम में उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों के लिए स्नातक की पढ़ाई के रास्ते खुल जाएंगे क्योंकि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर ने इन तीनों पाठ्यक्रमों को उच्च माध्यमिक परीक्षा (12वीं) की समकक्षता प्रदान कर रखी है। उक्त तीनों पाठ्यक्रम उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थी क्रमश: आगे बीए, बीकॉम व बीएससी की पढ़ाई के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

 

सौ-सौ अंक के पांच प्रश्न पत्र
तीनों पाठ्यक्रमों में सामान्य अंग्रेजी, हिन्दी समेत कुल पांच-पांच प्रश्न पत्र होंगे। सभी प्रश्न पत्रों की लिखित परीक्षा 80-80 अंक की और सत्रीय/आंतरिक गृह कार्य 20 अंक का होगा। सभी प्रश्न पत्रों के दोनों भागों (सत्रांत परीक्षा व आंतरिक गृह कार्य) में अलग-अलग 20 प्रतिशत व कुल मिलाकर 33 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य है। यदि कोई विद्यार्थी प्रथम प्रयास में उत्तीर्ण नहीं हो पाता है तो निर्धारित परीक्षा शुल्क जमा कराने पर 6 माह बाद आयोजित होने वाली परीक्षा में बैठने का अंतिम अवसर प्रदान किया जाएगा।

 


वर्जन-
वीएमओयू के बीएपी, बीसीपी व बीएससीपी पाठ्यक्रम ऐसे विद्यार्थियों के लिए शिक्षा का दूसरा अवसर हैं, जिनकी पढ़ाई बीच में छोड़ चुके हैं। इन पाठ्यक्रमों में दसवीं या 12वीं फेल विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।
- डॉ. एसवी सिंह, निदेशक, क्षेत्रीय कार्यालय, वीएमओयू, भरतपुर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned