Bharatpur News सरसों की दो लाख क्विंटल खरीद ने चौंकाया...

Bharatpur News  सरसों की दो लाख क्विंटल खरीद ने चौंकाया...

Pramod Kumar Verma | Publish: May, 17 2019 09:38:38 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 09:38:39 PM (IST) Bharatpur, Bharatpur, Rajasthan, India

भरतपुर. सरसों की खरीद रफ्तार पकडऩे लगी है, जिससे पिछले डेढ माह में करीब 13 हजार किसानों ने 02 लाख क्विंटल से अधिक सरसों का विक्रय कर दिया।

भरतपुर. सरसों की खरीद रफ्तार पकडऩे लगी है, जिससे पिछले डेढ माह में करीब 13 हजार किसानों ने 02 लाख क्विंटल से अधिक सरसों का विक्रय कर दिया। समर्थन मूल्य पर सरसों खरीद की दर सरकार ने 1840 रुपए क्विंटल निर्धारित की है जिसमें ऑनलाइन पंजीकृत किसान ही सूचना मिलने पर सहकारी क्रय-विक्रय व ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर विक्रय कर रहे हैं।

एक अप्रेल से सुचारू हुई सरसों खरीद से पहले सरकार ने सभी क्रय-विक्रय समितियों पर किसानों के पंजीयन की क्षमता निर्धारित कर दी थी। जिलें में यह संख्या 46 हजार 351 निर्धारित की, जिनसे सरसों खरीद की जा रही है। ऐसे में अब तक 13 हजार 892 किसानों ने मोबाइल पर मिले मैसेज के आधार पर अपनी सरसों का विक्रय कर दिया है।


गौरतलब है कि राजफैड के माध्यम से सहकारी समितियां सरसों की खरीद कर रहीं है। यहां किसानों की पंजीयन क्षमता 46 हजार से अधिक है, जिनमें से 40 हजार 828 किसानों ने पंजीयन करा चुके है। इन किसानों ने अब तक लगभग 02 लाख 71 हजार 233.56 क्विंटल सरसों का विक्रय समितियों के माध्यम से सरकार को कर दिया है। किसानों के इस विक्रय से खुद राजफैड भी चौंका दिया है।


जिले में 3.90 लाख हैक्टेयर भूमि कृषि योग्य है , जहां 2.67 लाख किसान हैं। इनमें से 1.5 लाख से अधिक किसानों ने 02 लाख हैक्टेयर में सरसों की फसल की है। इसके चलते सरकार ने 46 हजार 351 किसानों के पंजीयन के साथ करीब 07 लाख क्विंटल सरसों खरीद का लक्ष्य रखा है। यहां 40 हजार 828 पंजीयन करा चुके हैं। लेकिन, सरसों का बेचान अभी तक 13 हजार 892 किसानों ने किया है। हालांकि सूचना 18 हजार 161 पंजीकृत किसानों को दी है। राजफैड भरतपुर में क्षेत्रीय अधिकारी उमेशचंद शर्मा का कहना है कि क्रय-विक्रय केंद्रों पर सरसों की खरीद चल रही है। अब तक 2 लाख 71 हजार क्विंटल से अधिक सरसों खरीदी ली है। किसानों को सूचना देकर बुला रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned