चिकित्साकर्मी ने कोरोना योद्धाओं को लिखा...एक दिन काम करने के बाद क्या आप लोग मर चुके हो

-विरोध में हड़ताल की चेतावनी के बाद मांगी माफी

By: Meghshyam Parashar

Published: 18 Apr 2020, 09:13 PM IST

भरतपुर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य अधिकारी जिला कार्यक्रम प्रबंधक कौशल तिवारी ने विभागीय वाटसअप ग्रुप पर स्वास्थ्यकर्मियों के लिए देर रात को लिख दिया कि एक दिन काम करने के बाद क्या आप लोग मर चुके हो...। सुबह जब चिकित्सा कर्मियों ने इस मैसेज को पढ़ा तो वे आक्रोशित हो गए। इसके बाद आयुष भवन पहुंचे और कार्य का बहिष्कार करने की चेतावनी दे डाली। ऐसे में माफी मांगने पर मामला शांत हो सका। उल्लेखनीय है कि जिला जहां कोरोना की मार झेल रहा है। वहीं कोरोना से जंग लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों और स्वास्थ्य सेवाएं दोनों को कई अन्य दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार देर रात चिकित्सा कर्मियों से काम का फीडबैक लेने के संबंध में स्वास्थ्य अधिकारी डिस्ट्रिक्ट प्रोग्रामिंग मैनेजर कौशल तिवारी ने ऑफिशियल वॉट्सअप ग्रुप पर पहले उनका उत्साहवर्धन करते हुए मैसेज किया। इसके बाद लिख दिया कि एक दिन काम करने के बाद क्या आप लोग मर चुके हो जो जबाब नहीं दे रहे हो । इस सन्देश को रात को तो किसी ने नहीं पढ़ा, लेकिन सुबह जागने के बाद जब यह अपमान जनक सन्देश पढ़ा तो स्वास्थ्यकर्मियों ने नाराजगी जताते हुए शनिवार सुबह कार्यालय पर इक_े हुए और उन्होंने मिलकर कार्य का बहिष्कार कर दिया। इस अपमानपूर्ण संदेश के बाद सभी स्वास्थ्यकर्मी नाराज हो गए। सभी ने सुबह कार्य का बहिष्कार कर दिया लेकिन काफी देर बाद स्वास्थ्यअधिकारी ने सभी से माफी मांगी तब जाकर मामला शांत हुआ। कोरोना में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मियों का आरोप है कि वे दिन भर काम करते है लेकिन फिर भी उनके लिए खाने व पीने की कोई व्यवस्था नहीं है। साथ ही उन्हें पारितोषिक भी न के बराबर दिया जा रहा है।
चिकित्सा विभाग बना हुआ है अखाड़ा
विभाग में बड़ी संख्या में ऐसे भी चिकित्साकर्मी हैं, जो कि मेवात व बयाना के उस एरिया में ड्यूटी दे रहे हैं जहां कोरोना पॉजिटिव केस निकले हैं। ऐसे में उनके खाने-पीने आदि की समुचित व्यवस्था नहीं होने की शिकायत आए दिन सामने आ रही है। चूंकि विभाग के पास इस समय भले ही बजट आदि की कमी चल रही होगी, परंतु कोरोना ड्यूटी को लेकर खुद राज्य सरकार की ओर से भी स्पष्ट किया जा चुका है कि बजट की समुचित व्यवस्था की गई है।
घर-घर सर्वे करने में मुख्य भूमिका निभा रहे ये कोरोना योद्धा
बताया जा रहा है कि शहर में अटलबंद थाना इलाके की तिलक नगर कॉलोनी में एक स्टूडेंट के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद वहां कफ्र्यू लगा दिया है। इसके साथ ही कॉलोनी में घर-घर जाकर हर व्यक्ति की कोरोना जांच के लिए बड़ी संख्या में टीमों को तैनात किया गया है। इनमें एएनएम, चिकित्सक सहित अनेकों कर्मी शामिल है। सभी कर्मचारियों ने डोर टू डोर सर्वे का काम शुरू कर दिया है।

Meghshyam Parashar Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned